भविष्यवक्ता लेब संचालकों की अब खैर नहीं -लड़का है या लड़की बताने वाले अब जायेंगे जेल

Scn news india

मनोहर

आमजन को लैंगिक चयन गतिविधियों की रोकथाम हेतु जागरूक करने एवं इस प्रकार की गतिविधियों पर नियंत्रण हेतु गर्भधारण एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक (लिंग चयन प्रतिषेध) विनियमन तथा दुरुपयोग अधिनियम (पीसी एंड पीएनडीटी एक्ट) प्रभावी है। उक्त अधिनियम के तहत सशक्त कार्रवाई के उद्देश्य से शासन द्वारा ‘पुनरीक्षित पुरस्कार योजना 2021’ का निर्धारण किया गया है। जिसमें मुखबिर, डिकॉय महिला, अभियोजन अधिकारी एवं जिला नोडल अधिकारी अथवा कलेक्टर द्वारा चिन्हित व्यक्ति को 2 लाख रुपए पुरस्कार की योजना है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.के. तिवारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार पुनरीक्षित मुखबिर पुरस्कार योजनांतर्गत कुल प्रावधानिक प्रोत्साहन राशि दो लाख रुपए है, जिसकी प्रथम किश्त एक लाख 25 हजार रुपए कोर्ट में चालान प्रस्तुत होने पर दी जाएगी। उक्त प्रोत्साहन राशि में मुखबिर को 50 हजार, जिला नोडल अधिकारी पीसी एंड पीएनडीटी/अन्य को 25 हजार एवं अभियोजन अधिकारी को 50 हजार रुपए प्रदान किए जाने का प्रावधान है। न्यायालय द्वारा अपराध सिद्ध होने पर द्वितीय किश्त की 75 हजार रुपए राशि की जाएगी। जिसमें मुखबिर को 30 हजार रुपए, जिला नोडल अधिकारी पीसी एंड पीएनडीटी/अन्य को 15 हजार एवं अभियोजन अधिकारी को 30 हजार रुपए प्रदान किए जाने का प्रावधान है।
मुखबिर द्वारा स्टिंग ऑपरेशन का क्रियान्वयन करने पर सफल स्टिंग- राज्य/जिला समुचित प्राधिकारी द्वारा सत्यापन उपरांत प्रथम किश्त एक लाख 25 हजार रुपए दिए जाने का प्रावधान है। जिसमें मुखबिर को 50 हजार, डिकॉय महिला के सहयोगी को 10 हजार, जिला नोडल अधिकारी पीसी एंड पीएनडीटी/अन्य को 15 हजार एवं अभियोजन अधिकारी को 30 हजार रुपए प्रदान किए जाने का प्रावधान है। इसके तहत न्यायालय में अपराध सिद्ध होने पर द्वितीय किश्त के 75 हजार रुपए दिए जाएंगे, जिनमें मुखबिर को 30 हजार रुपए, डिकॉय महिला को 10 हजार रुपए, डिकॉय महिला के सहयोगी को 5 हजार रुपए, जिला नोडल अधिकारी पीसी एंड पीएनडीटी/अन्य को 10 हजार एवं अभियोजन अधिकारी को 20 हजार रुपए प्रदान किए जाने का प्रावधान है।

इन अधिकारियों को दी जा सकती है सूचना
————————————————

पुनरीक्षित मुखबिर पुरस्कार योजना 2021 के अंतर्गत आवश्यक सूचना सीईओ जिला पंचायत श्री अभिलाष मिश्रा के मोबाइल नंबर 9343300823 अथवा अपर कलेक्टर श्री श्यामेन्द्र जायसवाल के मोबाइल नंबर 9826432234 अथवा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए.के. तिवारी के मोबाइल नंबर 9425141841 पर वाट्सएप, एसएमएस अथवा कॉल पर दी जा सकती है। इस तरह की सूचनाएं गुप्त रखी जाएंगी।