7 दिन में मांगे नहीं मानी तो करेंगे कलम बंद हड़ताल

Scn news india
 
7 दिन में मांगे नहीं मानी तो करेंगे कलम बंद हड़ताल
सहकारी कर्मचारियों ने ज्ञापन सौंपकर प्रशासन को दिया अल्टीमेटम
बैतूल। मध्य प्रदेश सहकारी कर्मचारी महासंघ ने सहकारी समिति के कर्मचारियों की जायज मांगों के समर्थन में शनिवार को जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से महासंघ के जिलाध्यक्ष राजू देशमुख ने बताया कि कर्मचारियों की मांगों के प्रति ध्यानाकर्षण करवाने कई बार जिला प्रशासन सहित प्रदेश के मुखिया को ज्ञापन सौंपा गया, लेकिन आज तक कर्मचारियों की मांगों को पूर्ण नहीं किया गया। जिसके चलते महासंघ को पुनः आंदोलन की राह अपनाते हुए कलम बंद हड़ताल के लिए बाध्य होना पड़ रहा है। मध्य प्रदेश सहकारी कर्मचारी महासंघ ने मुख्यमंत्री, कलेक्टर, जिला आपूर्ति अधिकारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला सहकारी केंद्रीय बैंक को ज्ञापन सौंपकर कर्मचारियों की जायज मांगों को पूर्ण करने का आग्रह किया है। ज्ञापन के माध्यम से महासंघ ने चेताया कि यदि 7 दिन में कर्मचारियों की मांगों को पूर्ण करने के आदेश प्रसारित नहीं किए गए तो महासंघ द्वारा जिले में संचालित खाद्यान्न वितरण, किसानों को खाद बीज, नगद वितरण तथा धान, बाजरा उर्पाजन आदि समस्त कार्य अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया जाएगा।
–कर्मचारियों की यह है मांग–
मध्य प्रदेश सहकारी कर्मचारी महासंघ के रमेश माकोड़े ने बताया कि समितियों के समस्त कर्मचारियों को शासकीय कर्मचारी की तरह हर माह वेतन भत्ते व अन्य सुविधाओं के आदेश प्रसारित किए जाए, समिति प्रबंधकों के बैंक कैडर भर्ती प्रक्रिया में शत प्रतिशत पद समिति कर्मचारियों से भरे जाने व भर्ती प्रक्रिया को अतिशीघ्र की जाए, कर्मचारियों के खिलाफ की गई कार्यवाही एफआईआर पद से पृथक व अन्य कार्यवाही शासन द्वारा वापसी लेने के आदेश प्रसारित किए जाए, अन्य विभागों द्वारा की जाने वाली कार्यवाहियों पर रोक लगाने के आदेश प्रसारित किए जाए, खाद्यान्न वितरण में पीओएस मशीन में अचानक स्टाक बढ़ना व अधिक दिखाने के अन्तर में तुरंत सुधार किया जाए, खाद्यान्न कमीशन की राशि प्रतिमाह मध्यप्रदेश स्टेट सिविल सप्लायर कॉर्पोरेशन से त्वरित भुगतान की जाए, ताकि विक्रेताओं का वेतन प्रतिमाह भुगतान किया जा सके। कोरोना काल में जिन कर्मचारियों की मृत्यु हुई है उनके परिवार को 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाए।