साहित्य अकादमी के वर्ष 2017 के शेष कृति पुरस्कार घोषित

Scn news india

हर्षिता वंत्रप 

संस्कृति विभाग की साहित्य अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद् ने कैलेण्डर वर्ष 2017 के शेष 6 अखिल भारतीय और 6 प्रादेशिक कृति पुरस्कार की घोषणा की है। अखिल भारतीय पुरस्कार में एक लाख रुपये और प्रादेशिक पुरस्कार में 51 हज़ार रुपये की सम्मान राशि प्रदान की जाती है।

अकादमी के निदेशक डॉ. विकास दवे ने बताया कि छः अखिल भारतीय पुरस्कार में ‘आत्मकथा-जीवन’ श्रेणी में अखिल भारतीय विष्णु प्रभाकर पुरस्कार बनारस के श्री संदीप देव को रचना ‘हमारे श्री गुरू जी’ के लिए, ‘संस्मरण’ श्रेणी में अखिल भारतीय निर्मल वर्मा पुरस्कार खंडवा के श्री संतोष तिवारी को उनकी रचना ‘रिश्ते मन से मन के’ के लिए, ‘रेखा चित्रा’ श्रेणी में अखिल भारतीय महादेवी वर्मा पुरस्कार दिल्ली के श्री संजय सिन्हा को ‘शुक्रिया’ के लिए, ‘यात्रा-वृत्तांत‘ श्रेणी में अखिल भारतीय प्रो. विष्णुकांत शास्त्री पुरस्कार गाजियाबाद के श्री विनोद बब्बर को ‘भगीरथ के देश में’ के लिए,  ‘अनुवाद’ श्रेणी में अखिल भारतीय भारतेन्दु हरिश्चन्द्र पुरस्कार दिल्ली के श्री अमरनाथ श्रीवास्तव को ‘कारगिल के परमवीर’ के लिए और ‘फैसबुक/ब्लाग/नेट’ श्रेणी में अखिल भारतीय नारद मुनि पुरस्कार उज्जैन के श्री सुरेश चिपलूनकर को उनके पेज: ‘ब्लॉक/फेसबुक’ को दिया गया है।

शेष छः प्रादेशिक पुरस्कार में ‘संवाद, पटकथा लेखन’ श्रेणी में प्रादेशिक नरेश मेहता पुरस्कार भोपाल के श्री अयोध्या प्रसाद सोनी को उनकी रचना ‘खाली पिंजरा और हिंदुस्तान का पानी’ के लिए, ‘लघुकथा’ श्रेणी में प्रादेशिक जैनेन्द्र कुमार ‘जैन’ पुरस्कार भोपाल के श्री घनश्याम मैथिल ‘अमृत’ को उनकी रचना ‘एक लोहार की’ के लिए, ‘एकांकी’ श्रेणी में प्रादेशिक सेठ गोविन्द दास पुरस्कार भोपाल के श्री अरविन्द शर्मा को ‘सपना सच हो गया’ के लिए, ‘व्यंग्य’ श्रेणी में प्रादेशिक शरद जोशी पुरस्कार उज्जैन के श्री मुकेश जोशी को ‘आल इज वेल’के लिए, ‘गीत’ श्रेणी में प्रादेशिक वीरेन्द्र मिश्र पुरस्कार सतना के श्री छोटेलाल पाण्डेय को ‘वीरव्रती आजाद’ और ‘गजल’ श्रेणी में प्रादेशिक दुष्यंत कुमार पुरस्कार ग्वालियर के श्री मनीष जैन ‘रौशन’ को उनकी रचना ‘रंग खुशबू के’ के लिए दिया गया है।