न्याय पाने आदिवासियों का हल्ला बोल 139 परिवारों को भूमि पट्टा देने की मांग एसपी कार्यालय पहुंच लगाई गुहार.

Scn news india

 

सुनील यादव कटनी 

कटनी जिले के ढीमरखेड़ा के बिचुआ ग्राम के सैकड़ो आदिवासी बड़ी संख्या में कलेक्टर व एसपी कार्यलय पहुँच वन विभाग द्वारा उनके साथ की जा रही नाइंसाफी से अवगत कराते हुए ज़ोरदार नारेबाजी कर प्रर्दशन कर ..वन विभाग के अधिकारियों के भ्रष्ट होने का आरोप लगाया और उन पर कार्यवाही की मांग की।

मनोज केडिया – अडिशनल एसपी

डॉक्टर ऐ के खान ने बताया कि ढीमरखेड़ा गाँव मे आदिवासी बहुल ग्राम बिचुआ जहां पीढ़ियों से आदिवासी परिवार निवासरत है। लेकिन वन विभाग इस भूमि को अधिग्रहित कर सैकड़ो आदिवासी परिवार को यहां से बेदखल करने का प्रयास कर रहा है। जिसका आदिवासी परिवार लगातार विरोध कर रहे है। मंगलवार को आदिवासी परिवार एकत्रित होकर एसपी कलेक्टर कार्यालय पहुंचे थे जहां उन्होंने एसपी सुनील कुमार जैन व कलेक्टर कार्यालय के अधिकारियों से उनकी वर्षों से चली आ रही मांग कि उन्हें भूमि पट्टे देकर इसी भूमि पर रहने दिया जाए उनके साथ न्याय किए जाने की गुहार लगाई।

साधना परस्ते – संयुक्त कलेक्टर

आदिवासियों ने शिकायत में बताया कि वीरान गांव, बंदर चुआ, कछार खमतरा, सलैया बिचुआ की शासकीय भूमि कछारी अपार्टमेंट क्रमांक 118 ,119,120, में अपने पूर्वजों के समय से कृषि कार्य करते चले आ रहे हैं और अपना व अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं 149 परिवारों के लोग इस भूमि पर निवासरत है आदिवासियों की बसाहट के लिए ग्राम पंचायत बिछुआ के द्वारा 24 सितंबर 2008 को बसाहट के लिए इस भूमि की अनुशंसा की गई थी।

वन विभाग के अधिकारियों द्वारा इस भूमि को उनकी शासकीय भूमि बताकर इसे अधिग्रहीत करने के लिए लगातार आदिवासी परिवारों को प्रताड़ित किया जाता रहा है। इसके साथ ही उन्हें भूमि नही छोड़ने पर वनकर्मियों द्वारा वन संबंधी अपराधों में फंसाने की धमकी दी जाती है। परेशान होकर आदिवासी परिवार एसपी कार्यालय पहुंचे और न्याय की गुहार लगाई। एसपी सुनील कुमार जैन को प्रदर्शन कर रहे आदिवासी परिवारों ने माँग की है कि उन्हें इस भूमि पर ही रहने दिया जाए और दोषियों पर कार्रवाई की जाए।

डॉक्टर ऐ के खान

 

Live Web           TV