नौजवान ही प्रदेश का नवनिर्माण करेंगे, उनका भविष्य खतरे में रहेगा तो प्रदेश का भविष्य भी सुरक्षित नही – कमलनाथ

Scn news india

हर्षिता वंत्रप  

भाराछासंगठन का प्रदर्शन कार्यक्रम………………

आज के छात्र, नौजवान ही प्रदेश का नवनिर्माण करेंगे, उनका भविष्य

खतरे में रहेगा तो प्रदेश का भविष्य भी सुरक्षित नही
भाराछाँस को कालेजों में सदस्यता की तरफ ध्यान देना है, ज्यादा से ज्यादा युवाओं को जोड़ना है आपमें जोश है, निष्ठा है, आपके इस जोश
को भोपाल तक ही सीमित नहीं रखना है, पूरे प्रदेश में
अपने इस जोश को कायम रखना है: कमलनाथ

भोपाल

‘‘आज नौजवान ही मप्र का भविष्य हैं और वो ही प्रदेश का नवनिर्माण करेंगे लेकिन आज के युवाओं का भविष्य खतरे में है, यदि युवाओं का भविष्य ही खतरे में रहेगा तो मप्र का भविष्य कैसे सुरक्षित रहेगा।आज का पढ़ा लिखा युवा-नौजवान कोई ठेका नहीं चाहता, कोई कमीशन नहीं चाहता वह तो सिर्फ़ अपने भविष्य को सुरक्षित करना चाहता है“ उक्त संबोधन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय प्रांगण में भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन द्वारा शिक्षा बचाओ-देश बचाओें और भाजपा सरकार की शिक्षण नीतियों में विसंगतियों एवं बढ़ती बेरोजगारी के खिलाफ आयोजित घेराव कार्यक्रम में दिया।
श्री नाथ ने प्रदेश भर से हजारों की संख्या में आये एनएसयूआई के छात्रों से कहा कि आप यहां ठेका, कमीशन लेने नहीं आये है,

आप उस संस्कृति से जुड़े हैं जो देश की संस्कृति है, कांग्रेस की संस्कृति है और कांग्रेस की संस्कृति में आपकी निष्ठा ही आपको यहां आज खीचकर लायी है।हम दिल जोड़ते है, रिश्ता जोड़ते है, संबंध जोड़ते हैं।पूरे विश्व में ऐसा कोई देश नहीं जहां इतनी भाषाएं हो, इतनी जातियां हो, इतने धर्म हो, इतने रीति-रिवाज हो, अलग-अलग देवी देवता हो, हम दीवाली मनाते हैं, पोंगल मनाते हैं, विभिन्न त्यौहार मनाते है, आज हमारा पूरा देश एक झंडे के नीचे खड़ा है क्योंकि यही हमारी संस्कृति है।
उन्होंने कहा कि मुझे बड़ी चिंता होती है कि आज का छात्र-युवा बेरोजगार है, किसान से लेकर महिला, छोटा व्यापारी हर वर्ग परेशान है। प्रदेश को किस अंधकार की ओर घसीटा जा रहा है। भाजपा सरकार की शिक्षा नीति से बच्चों के भविष्य और उनकी शिक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 15 महीने कांग्रेस की सरकार रही, पूरा प्रदेश जानता है हमने अपनी नीति और नियत का परिचय दिया। भाजपा आज मुझसे 15 माह का हिसाब मांगती है। मैं चुनौती देता हूँ कि भाजपा 18 साल की सरकार का हिसाब दे दे, मैं अपने 15 माह का हिसाब देने को तैयार हूँ। प्रदेश में शिक्षा का स्तर बढ़े, नौजवानांे का भविष्य सुरक्षित हो, कृषि क्षेत्र में मजबूती आये, क्रांति आये, प्रदेश में निवेश आये, आर्थिक गतिविधियां बढे़ और प्रदेश की एक अलग पहचान बने, यह हमारी सरकार के समय हमारा प्रयास था। हमारा हर एक कदम प्रदेश की तरक्की के लिए था, आपके भविष्य के लिए था।


श्री नाथ ने कहा कि शिवराज सिंह ने मुझे ऐसा प्रदेश सौपा था, जो बेरोजगारी में नंबर वन, किसानों की आत्महत्या में नंबर वन, महिलाओं पर अत्याचार में नंबर वन, भ्रष्टाचार में नंबर वन, पैसे दो-काम लो, ऐसी व्यवस्था शिवराज जी ने बनायी थी।हमारे सामने चुनौती थी कि कैसे प्रदेश को पटरी पर लाये।शिवराज जी ने पिछले 15 साल की सरकार में 22 हजार घोषणाएं की कितनी आज तक पूरी हुई? आज उनको किसान नहीं दिखता, नौजवान नहीं दिखता , उनकी आँख-कान नहीं चलते , उनका तो केवल मुंह चलता है।
श्री नाथ ने कहा कि मैंने युवक कांग्रेस से अपनी राजनीति की शुरूआट की थी, उस समय की दुनिया कुछ और थी आज की दुनिया कुछ और है। आज का युवा सोशल मीडिया से जुड़ा है, पहले 25 प्रतिशत युवा ही सोशल मीडिया से जुड़े थे, आज प्रदेश के 95 प्रतिशत युवा सोशल मीडिया से जुडे है। हमारा मुकाबला भाजपा ने नहीं भाजपा के संगठन से है। प्रदेश में लगभग 1330 कालेज हैं, आपको कालेजों में सदस्यता की तरफ ध्यान देना है, ज्यादा से ज्यादा युवाओं को जोड़ना है। आपमें जोश है, निष्ठा है, आपके इस जोश को भोपाल तक ही सीमित नहीं रखना है, पूरे प्रदेश में अपने इस जोश को कायम रखना है। हमारे छात्र, नौजवान हमारे साथ नहीं तो प्रदेश का भविष्य भी सुरक्षित नहीं। यदि आपने संकल्प ले लिया तो प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने से कोई नहीं रोक सकता।


भाराछासं. के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कंुदन ने कहा कि कोरोना काल के दौरान देश-प्रदेश में जो नई शिक्षा नीति लागू की गई, उससे छात्र छात्राआंे को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिसके बारे में शिक्षकांे को संपूर्ण जानकारी नहीं है और न ही सरकार द्वारा कोई प्रशिक्षण दिलाया गया है। सरकार निजीकरण की ओर जा रही है, जिससे छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो रहा है। हमारा उद्देश्य शिक्षा बचाओं देश बचाओं है, जो देश में अभियान चलाया जा रहा है।
भाराछासं. के प्रदेश अध्यक्ष मंजुल त्रिपाठी ने शिक्षा बचाओ देश बचाओ अभियान को लेकर कहा कि भाराछासंगठन छात्र-छात्राओं के हितों के लिए तत्पर है। राज्य सरकार से उनके हितों के लिए आज अपनी बात रखते हुए कहा कि भाराछासंगठन के छात्र किसी से डरने वाले नहीं है। पूरी ताकत के साथ हम अपनी लड़ाई लड़ंेगे।


घेराव कार्यक्रम के दौरान आयोजित सभा में पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, विपिन बानखेड़े और कुणाल चौधरी ने भी भाराछासंगठन के युवाओं को संबोधित कर शिक्षा नीति, छात्रवृत्ति एवं अन्य विभिन्न मांगांे पर सरकार का ध्यान केंद्रित किया।
कार्यक्रम के बाद एनएसयुआई के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मुख्यमंत्री निवास का शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने गये तो सरकार के इशारे पर पुलिस ने उन्हें रेडक्रास पर ही रोक लिया और पर छात्रों पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज किया, जिसमें सैकड़ों कार्यकर्ताओं को चोटें आयी। यहीं नहीं पुलिसकर्मियांे ने प्रदेश कांग्रेस परिसर तक मंे घुसकर छात्रों पर लाठियां भांजी। सरकार का यह कृत्य कायराना एवं घोर निंदनीय है। कांग्रेस इसकी निंदा करती है।
इस अवसर पर पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया, प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष प्रकाश जैन, कोषाध्यक्ष अशोक सिंह, महामंत्री राजीव सिंह, भाराछासं. के राष्ट्रीय सचिव नितिश गौड और प्रदेश प्रभारी अवनीश भार्गव भोपाल के आशु चौकसे, रवि परमार, अभिमन्यु तिवारी सहित बड़ी संख्या में भाराछासं. के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।