आदिवासी वोटर्स को साधने बीजेपी-कांग्रेस की कवायदे तेज -सीएम 4 को पातालपानी जायेंगे

Scn news india

मनोहर

मध्य प्रदेश में आदिवासी वोटर्स को साधने के लिए बीजेपी-कांग्रेस की कवायद तेज हो गई है । जनजातीय गौरव दिवस का समापन समारोह 22 नवंबर को मंडला में आयोजित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यहां विभिन्न योजनाओं से आदिवासी हितग्राहियों को लाभान्वित करेंगे। इतना ही नहीं, शिवराज ने ऐलान कर दिया है कि आदिवासी क्रांतिकारी टंट्या भील के बलिदान दिवस पर 4 दिसंबर को पाताल पानी में (महू) बड़ा आयोजन किया जाएगा। पातालपानी टंट्या भील की कर्मस्थली है। यहां हर साल कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

वही पूर्व मुख्यमंत्री  कमलनाथ 24 नंवबर को आदिवासी विधायकों और 89 ट्राइबल ब्लॉक के पदाधिकारियों की बैठक भोपाल में करने जा रहे हैं। उपचुनाव के पहले कमलनाथ ने आदिवासी अधिकार यात्रा मालवांचल में निकाली थी, जबकि बीजेपी ने 18 सिंतबर को जबलपुर में सम्मेलन किया था। इसमें केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह शामिल हुए थे।

ये सारी कवायदे इसलिए तेज हो गई है क्योकि  मप्र में जल्दी ही पंचायत चुनाव होने वाले हैं। इसकी अधिसूचना इसी माह लागू होने की संभावना है। अब देखना होगा की आदिवासी समुदाय किसे सत्ता की दहलीज तक  पंहुचाता है।