एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय से बच्चों का हो रहा चहुंमुखी विकास:- बीईओं

Scn news india

धनराज साहू ब्यूरों

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय से बच्चों का हो रहा चहुंमुखी विकास:- बीईओं

जनजातिय समुदाय के बच्चों को मिल रही बेहतर शिक्षा

केंद्र सरकार की ‘सबका साथ- सबका विकास- सबका विश्वास’ की संकल्पना को सार्थक करने का एक प्रयास है। इसी क्रम में सरकार, समाज के सबसे पिछड़े तबके अनुसूचित जाति , जनजाति के भविष्य को मुख्यधारा में लाने के लिए गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने के लिए प्रयासरत है। एकलव्य आवासीय आदर्श विद्यालय इसी दिशा में एक कदम है। जो सफलतम सिद्द होता नजर आ रहा है। जिससे एकलव्य विद्यालयों में आदिवासी इलाक़ों से आने वाले बच्चों को उन्हीं के परिवेश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल सकेगी। आदिवासी अंचल की स्थानीय कला, संस्कृति, खेल और कौशल विकास को बढ़ावा दिया जायेगा। एकलव्य विद्यालयों से आदिवासी समुदाय के बच्चों को पढ़ाई में सुविधा होगी।

एकलव्य आदर्श विद्यालय के बच्चों से मिलकर जानी शिक्षा व्यवस्था
विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी जीसी सिंग एवं उनके साथ बी आर सी नर्रे जब वैक्सीनेशन महाअभियान सेंटरों के जाँच एव अभियान में सहयोगी बनते हुवे रास्ते से गुजरते हुवे उनके द्वारा एकलव्य आदर्श विद्यालय भैंसदेही में पहुँचकर स्कूल की स्वच्छता और छात्राओ को मिल रही शिक्षा पर भी अपना ध्यान आकर्षित करते हुवे। विद्यालय में अध्ययनरत छात्राओं से बात कर बीईओ अति प्रसन्न हुवे यहां तक कि बीईओ सिंग द्वारा बारहवीं कक्षा की छात्राओं से उनके विषयो के बारे में सवाल पूछे तो सारे बच्चे जवाब देने हेतु उत्साहित हुवे जिसे देख बीईओ सर अति प्रसन्न होकर उन्हें शिक्षक बन कर पढ़ाना सुरु कर और रसायन शास्त्र के बहुत से टोपिको पर बच्चों से चर्चा कर उनकी क्लास ली। जिसमे बच्चों ने रसायन शास्त्र की महत्वपूर्ण जानकारी ग्रहण की । जिसके बाद विद्यालय में पूर्ण स्वच्छता और बच्चों को मिल रही अच्छी शिक्षा पर समस्त शिक्षको की प्रसंसा की।

छात्राओ को बहुत पसंद आई विद्यालय की शिक्षा व्यवस्था
जब अध्ययनरत बालिकाओं से नवीन विद्यालय भवन एकलव्य आदर्श विद्यालय भैंसदेही की शिक्षा व्यवस्था पर बताया कि स्कूल में हमे बहुत अच्छी शिक्षा मिल रही है। शिक्षक भी बहुत अच्छा अध्ययन करवाते है। हम लोगो का पूरा ध्यान रखा जाता है। हमें आज बीईओ सर से मिलकर बहुत अच्छा लगा अब हमें लगता है।

क्या है एकलव्य आदर्श विद्यालय का उद्देश्य
सरकार का उद्देश्य अनुसूचित जाति जनजाति के विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण मध्यम और उच्च स्तरीय शिक्षा प्रदान करना है। इस कारण दूरदराज के क्षेत्रों में जनजाति (एसटी) के छात्र, न केवल उच्च और व्यावसायिक शैक्षिक पाठ्यक्रम और सरकारी व सार्वजनिक नौकरियों के लिए आरक्षण का लाभ उठाने में सक्षम हों, बल्कि शिक्षा के क्षेत्र में गैर एसटी आबादी के बराबर सर्वोत्तम अवसरों तक पहुंच प्राप्त कर सकें।