प्रधानमंत्री के आगमन और कार्यक्रमों की तैयारियाँ हुई पूरी -जाने क्या कहाँ होगा

Scn news india

हर्षिता वंत्रप  

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस और रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के उद्घाटन कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लिया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आगमन और समस्त कार्यक्रमों के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री मोदी के कार्यक्रमों के स्वरूप और सिलसिलेवार पृथक-पृथक गतिविधियों की रूपरेखा की जानकारी प्राप्त की। आज जंबूरी मैदान और रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पर सभी तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।

स्टेट कमांड सेंटर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुलिस मुख्यालय के पास स्थित स्टेट कमांड एंड कंट्रोल सेंटर पहुँचकर अधिकारियों की बैठक ली। मुख्यमंत्री ने जनजातीय गौरव दिवस के कार्यक्रम में आ रहे प्रतिभागियों के परिवहन, आवास और भोजन आदि की व्यवस्थाओं की जानकारी ली। पुलिस महानिदेशक, गृह, जनजातीय कार्य, परिवहन, जनसंपर्क और राजस्व विभागों के वरिष्ठ अधिकारी, भोपाल कमिश्नर, कलेक्टर उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि जिलों में से आ रहे जनजातीय समुदाय के प्रतिभागियों सहित अन्य आमंत्रियों के लिए सभी आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित किए जाएँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राजधानी में परिवहन के लिए निर्धारित रूट की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने विशिष्ट अतिथियों सहित सभी नागरिकों के लिए आवश्यक सुरक्षा व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की 15 नवंबर की भोपाल यात्रा के पूर्व आमंत्रित प्रतिभागियों के लिए सुरक्षित परिवहन की व्यवस्थाओं की जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उन्हें अपनी टीम पर पूरा भरोसा है। जनजातीय गौरव दिवस समारोह में आने वाले जनजातीय वर्ग के भाइयों के आने-जाने की समुचित व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम के लिए यातायात के मार्ग और निर्धारित रूट की जानकारी भी प्राप्त की। पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी ने आवश्यक व्यवस्थाओं की जानकारी दी।

बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय परिसर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की यात्रा के संदर्भ में बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय परिसर स्थित हैलीपेड का अवलोकन किया। उन्होंने इस क्षेत्र की आवासीय दीवारों पर आवश्यक सज्जा के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री जी द्वारा हैलीपेड से रानी कमलापति रेलवे स्टेशन तक जाने के मार्ग का भी अवलोकन किया। उन्होंने यातायात व्यवस्था सुगम बनाए रखने के लिए की गई तैयारियों की जानकारी भी ली। नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग भी उपस्थित थे।

रानी कमलापति रेलवे स्टेशन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सोमवार को आगमन और कार्यक्रम के संबंध में की गई व्यवस्थाओं की अवलोकन कर जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रेलवे प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान रेलवे बोर्ड चेयरमेन श्री सुनीत शर्मा और जनरल मैनेजर श्री एस.के. गुप्ता उपस्थित थे।

जनजातीय गौरव दिवस समारोह स्थल (जंबूरी मैदान)

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जंबूरी मैदान पहुँचकर प्रधानमंत्री जी के आगमन पर की जा रही तैयारियाँ देखी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जनजातीय गौरव दिवस समारोह स्थल का अवलोकन कर वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों से मंच, बैठक व्यवस्था और प्रदर्शनी स्थल के प्रबंधों के संबंध में जानकारी ली। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह और जनजातीय कार्य मंत्री सुश्री मीना सिंह भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गौरव दिवस समारोह में आए कुछ जनजातीय भाई-बहनों से भेंट कर चर्चा भी की। अपर मुख्य सचिव गृह, पुलिस महानिदेशक और अन्य अधिकारियों ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को कार्यक्रम स्थल पर की गई समस्त व्यवस्थाओं का विवरण दिया।

प्रधानमंत्री श्री मोदी जनजातीय समुदाय का कर्ज उतार रहे हैं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा में कहा कि देश की स्वतंत्रता में जनजातीय नायकों की महत्वपूर्ण भागीदारी रही है। यह उनका देश पर ऋण है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने जनजातीय गौरव दिवस के माध्यम से इस ऋण को उतारने का प्रयास किया है। पूरी दुनिया आज प्रधानमंत्री श्री मोदी की तरफ देख रही है। उनके निर्णयों और कार्य-शैली से अनेक राष्ट्र प्रभावित हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आने वाली पीढ़ियों को जनजातीय योद्धाओं के योगदान की जानकरी दी जाना चाहिए। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने इन योद्धाओं के प्रति जो सम्मान व्यक्त किया है और भगवान बिरसा मुंडा की जयंती को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाते हुए राष्ट्रव्यापी स्वरूप दिया है, उससे जनजातीय समुदाय की जिन्दगी बदलने के प्रयासों में भी सफलता मिलेगी।