फाइलेरिया दिवस पर हुए हाइड्रोसील कैंप का आयोजन,12 मरीजों का हुआ सफल ऑपरेशन

Scn news india

उजेन्द्र कुमार जिला ब्यूरो 
बलौदाबाजार, 13 नवंबर 2021/कलेक्टर सुनील कुमार जैन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा चयनित स्वास्थ्य केंद्रों में हाइड्रोसील कैंप का आयोजन कर फाइलेरिया दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सिविल हॉस्पिटल भाटापारा,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कसडोल एवं पलारी में कैम्प में हाइड्रोसील के कुल 12 निःशुल्क ऑपरेशन सफलतापूर्वक किए गए। जिससे गरीब मरीजों को बड़ी राहत मिली है। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने बताया कि पलारी में खंड चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर एफ.आर. निराला की देख रेख और प्रबंधन में सर्जन डॉ.एस एस बाजपेयी,डॉ.के.एस. बाजपेयी एवं डॉ ए के झंवर ने हाइड्रोसील ऑपरेशन किया जबकि कसडोल में डॉ.सुरेंद्र कुमार दिव्यकार एवं डॉ राजेश प्रधान ने इसे पूरा किया। लाभांवित मरीजों में ग्राम मोहतरा के 50 वर्षीय राम कुमार कुर्रे ने बताया कि उन्हें काफी समय से हाइड्रोसिल की समस्या थी। डॉक्टरों के परामर्श करनें के बाद उन्होंने ऑपरेशन की सलाह दी थी। मेरा ऑपरेशन शासकीय हॉस्पिटल में निःशुल्क हुआ।जिससे मुझे अतिरिक्त आर्थिक नुकसान नही उठाना पड़ा। मैं अब पूरी तरह से स्वस्थ हु। मुझें शासकीय हॉस्पिटल में हमें किसी भी प्रकार की तकलीफ नही हुई। इन हॉस्पिटल में भी निजी हॉस्पिटल केसमान ही अच्छी सुविधाएं उपलब्ध है। उसके लिए उन्होंने डॉक्टरों एवं स्टॉफ के प्रति आभार व्यक्त किया। इसी प्रकार ग्राम कोसमसरा के निवासी 27 वर्षीय बलराम को कम आयु में ही यह रोग हो गया था जिसका उन्होंने शिविर में ऑपरेशन करवाया है एवं स्वास्थ्य लाभ लिया। फाइलेरिया के संबंध में जानकारी देतें हुए डॉ राकेश कुमार प्रेमी ने बताया कि,हाइड्रोसिल फाइलेरिया रोग का ही एक प्रकार है जो कि क्यूलेक्स मच्छर के काटने से होता है जो गंदे पानी मे पनपता है । ऐसे ही हाथी पांव भी इसी रोग का एक अन्य रूप है जिसमें व्यक्ति के पैर में सूजन आ जाती है। रोग हो होने के बाद इसका कोई इलाज नहीं है इसलिए बचाव के लिए हर साल सामूहिक दवा सेवन अभियान चलाया जाता है। इस अवसर पर सभी ब्लॉक मुख्यालयों में हाथी पाँव के मरीजों के लिए रोग प्रबंधन की जानकारी हेतु कार्यक्रम कर के उन्हें बताया गया साथ ही उन्हें टब,मग,टॉवल,साबुन,एंटी फंगल,एंटी बैक्टीरियल ऑइनमेंट दिया गया और जरूरी व्यायाम सिखाए गए।