पुलिस का मानवीय चेहरा

Scn news india

रोहित नैय्यर ब्यूरो 
घमापुर थाना क्षेत्र में एक्सीडेंट में घायल हुए व्यक्ति ने asp से इलाज के लिए मांगी मदद,अपने आपको ट्रैफिक पुलिस में होना बताया।

पुलिस के प्रति जहा हमेशा आमजनमानस का नजरिया विपरीत रहता है,वही जबलपूर के पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पुलिस का मानवीय चैहरा देखने को मिला,,,
जहा घमापुर थाना क्षेत्र करियापाथर से पुलिस अधीक्षक कार्यलय जमीन में घसीट घसीट कर पहुँचे व्यक्ति को जिसने भी देखा उसका मन पसीज गया,, वही एसपी कार्यलय पहुँचा व्यक्ति अपने पैरों पर चल भी नही पा रहा था,,जैसे ही इसकी सूचना asp रोहित काशवानी को लगी तो शिकायत सुनने asp रोहित काशवानी स्वयं बाहर आ गए और उस पीड़ित की व्यथा सुनी,,जहा उक्त व्यक्ति ने अपना नाम तरुण कोठारी बताते हुए कि उसका एक्सीडेंट 20 सितंबर को करियापथर में एक दो पहिया वाहन ने कर दिया और मौके से फरार हो गया,वही उसकी कूल्हे की हड्डी टूट गयी ,,उसके बाद उसके पास इलाज के लिए रुपये भी नही है वही एक्सीडेंट करने वाले पकड़े नही गए,

वही उक्त पीड़ित व्यक्ति ने asp को अपने आप को ट्रॉफिक पुलिस में होना बताया जहा asp ने उसे जिला अस्पताल विक्टोरिया में इलाज के भेझने की बात कही,,
वही asp रोहित काशवानी ने जब उससे बैच नंबर पूछा तो उसने 192 बताया जब asp ने इसकी जांच की तो ऐसा कोई बैच नबर न होना पाया गया,वही जब व्यक्ति की जांच की गई तो पता चला वह कुछ विक्षिप्त है उसके बाद asp ने सिविल लाइन थाने में फ़ोन करते हुए उक्त व्यक्ति को अस्प्ताल में भर्ती कराने कहा।

तरुण कोठारी–पीड़ित

रोहित काशवानी–asp सिटी