नेशनल हॉस्पिटल हंगामा-हॉस्पिटल में पदस्थ कर्मचारी का 25 किलोमीटर दूर मिला शव

Scn news india

 

रोहित नैय्यर ब्यूरो 
जबलपुर के गोल बाजार में स्थित नेशनल हॉस्पिटल में पदस्थ कर्मचारी का 25 किलोमीटर दूर शव मिला है,मृतक 20 तारीख की रात 2 बजे अचानक हॉस्पिटल से दौड़कर बाहर निकला था उसके बाद फिर उसका पता नही चला,कल रात को जानकारी मिली कि मनीष का शव सिवनी टोला के पास रामघाट में पानी मे तैर रहा था,परिजनों ने अस्प्ताल प्रबंधन पर संगीन आरोप लगाए है,इधर पुलिस ने परिजनों के आरोपों को देखते हुए जाँच शुरू कर दी है…….

हॉस्पिटल में सुपरवाइजर था मनीष……
जानकारी के मुताबिक अधारताल निवासी मनीष सेन बीते 10 साल से नेशनल अस्प्ताल में काम कर रहा था,अचानक ही कुछ माह से वो परेशान हो गया ,दो बार तो उसने नोकरी तक छोड़ने की कोशिश की,20 तारीख की मनीष नाईट ड्यूटी में था,रात 2 बजे अचानक ही मनीष अस्प्ताल में ही मोबाइल-पर्स-बाइक छोड़कर दौड़ते हुए बाहर निकलता है जो कि सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुआ है…….

रात दो बजे मनीष हुआ गायब-परिजनों को जानकारी दी गई सुबह 11 बजे…..
20 तारीख की रात को मनीष ड्यूटी आया था रात को अचानक ही वह बिना किसी से बात किए निकलते हुए दिख रहा है,मनीष के गायब होने की सूचना अस्प्ताल प्रबधंन परिजनों को अगली सुबह 11 बजे देते है,परिजनों का आरोप है कि कही न कही मनीष के साथ कुछ अनहोनी हुई है क्योंकि जिस जगह उसकी लाश मिली है वह अस्प्ताल से 25 किलोमीटर दूर है,2 बजे रात को कैसे मनीष वहाँ तक पहुँच सकता है,परिजनों का आरोप है कि मनीष की हत्या कर लाश को पानी मे फेका गया है……..

 संतोष श्रीवास मृतक का बड़ा भाई

हॉस्पिटल में ही एक युवती से मनीष की थी मित्रता….
जानकारी के मुताबिक मनीष की अस्प्ताल में ही काम करने वाली एक युवती से दोस्ती थी,कुछ दिन पहले युवती की सगाई तय हुई थी तभी से वह काफी परेशान था,मनीष के परिजनों ने उसके मोबाइल की सीडीआर निकलवाने की पुलिस से मांग की है,परिजनों का कहना है कि उससे सब स्थिति साफ साफ हो जाएगी,बताया यह भी जा रहा है कि मनीष का मोबाइल रीसेट कर सिम को निकाला गया है……..

प्रफुल्ल श्रीवास्तव थाना प्रभारी

यह बातें कर रही है संदेह पैदा……
*परिजनों ने सवाल उठाए हैं कि आधी रात कोई 25 किमी दूर कैसे पहुंचा……
*किसने मनीष के मोबाइल को रिसेट कर सिम गायब किया……
* हॉस्पिटल में लगा सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग में आधे समय का ही फुटेज क्यों है……
*मनीष कुछ दिनों से नौकरी किससे प्रताड़ित होकर कर रहा था…..
*मनीष 20 अक्टूबर की रात एक बजे निकल गया तो अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें 10 घंटे बाद अगले दिन सुबह 11 बजे इतनी देरी से क्यों सूचना दी……