समाज का प्रत्येक नागरिक समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें एवं आगे आकर बच्चों की मदद में सहभागी बनें-कलेक्टर

Scn news india

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news india

रीवा- जिले में 0 से 5 साल के ऐसे बच्चे जो मंदबुद्धि, ऑटिज्म, सेरेब्राल पाल्सी एवं बहुविकलांगता की बीमारियों से जूझ रहे हैं, इन बच्चों के समक्ष पोषण, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं कैरियर जैसी विभिन्न चुनौतियां हैं। जिला प्रशासन इन जरूरतमंद बच्चों की देख-रेख एवं संरक्षण के लिए संकल्पित है। सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास एवं भारतीय रेडक्रास सोसायटी के सहयोग से चलाया जा रहा “निरामया संकल्प अभियान” इन मानसिक दिव्यांग बच्चों को नई राह देने का एक अभिनव प्रयास है, जिससे बच्चों को चिकित्सकीय उपचार, दिव्यांगता प्रमाण पत्र के साथ-साथ पोषण, देख-रेख हेतु पोषण किट, एमआर किट, निरामया स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ, यूडीआईडी कार्ड एवं बैंक खाता जैसी विभिन्न सुविधाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराई जा सकेंगी।
जिला प्रशासन का यह संकल्प तभी फलीभूत होगा जब समाज का प्रत्येक नागरिक समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करे एवं आगे आकर बच्चों की मदद में सहभागी बनें!