मध्य प्रदेश में मौसम में बदलाव की संभावना, भोपाल, ग्वालियर, उज्‍जैन, जबलपुर, और रीवा संभागों में वर्षा हो सकती है

Scn news india

मध्य प्रदेश के उत्तरी हिस्से उत्तर-पश्चिमी ठंडी हवाओं की चपेट में हैं जबकि दक्षिणी हिस्से उत्तर-पूर्वी ठंडी हवाओं की चपेट में हैं। आगामी 24 से 48 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश में हवाओं की दिशा वदलाव की संभावना नहीं है. इसके बाद, मध्य प्रदेश में हवाएँ दक्षिण-पूर्वी होने की संभावना है जिस कारण न्यूनतम और अधिकतम तापमान में वृद्धि की संभावना है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ द्वारा पश्चिमी हिमालय क्षेत्र को 30 दिसंबर की रात से प्रभावित करने की बहुत संभावना है। इस पश्चिमी विच्छोप एवं निचले तल की पूर्वी हवाओं के परस्पर प्रभाव(इंटरेक्शन) के कारण 01 एवं 02 जनवरी, 2020 को मध्य भारत सहित मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में अधिकांश स्थानों से अनेक स्थानों तक वर्षा के साथ साथ कहीं-कहीं ओले गिरने की संभावना है. आगामी 2 दिनों के दौरान उत्तरी मध्य प्रदेश में घना कुहरे की संभावना है. आगामी 24 से 48 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के न्यूनतम तापमानों में विशेष परिवर्तन की संभावना नहीं है एवं रीवा, सागर, ग्वालियर एवं चम्बल संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर शीत लहर साथ साथ कहीं-कहीं तीव्र शीत लहर की संभावना है इसके बाद शीत लहर से राहत मिलाने की संभावना है. आगामी 24 से 48 घंटों के दौरान रीवा, सागर, ग्वालियर, चम्बल, जबलपुर, भोपाल एवं इंदौर संभागों के जिलों में कहीं कहीं तीव्र शीतल दिन के साथ साथ कुछ स्थानों पर तीव्र शीतल दिन की संभावना है. आगामी 24 सागर, रीवा, शहडोल, ग्वालियर एवं चम्बल संभागों के जिलों में कहीं कहीं कुछ क्षेत्रों में कुहर एवं कहीं कहीं घना कुहरा छाने की संभावना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.