प्रश्न-पत्रों में क्रांतिकारियों को आतंकवादी लिखे जाने पर जांच के आदेश

Scn news india

मनोहर 

भोपाल – गुना जिले के एक सरकारी कॉलेज में  20 दिसंबर को राजनीति शास्त्र की परीक्षा कराने के दौरान प्रश्नपत्र में पूछे गए विवादित सवाल पर छात्रों ने आपत्ति जताते हुए विरोध किया। इस मामले पर छात्रों और छात्र संगठन डेमोक्रेटिक स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन (डीएसओ) ने सवाल खड़े किए है। दरअसल प्रश्नपत्र में देश के क्रांतिकारियों को आतंकवादी बताते हुए उनमें और उग्रवादियों में अंतर पूछा गया था। जिसमे प्राचार्य का कहना है की प्रश्नपत्र बंद लिफ़ाफ़े में प्राप्त होते है। इस मामले को वीसी के संज्ञान में लाया गया है। 

वही इस मामले में उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने जीवाजी विश्वविद्यालय, ग्वालियर में प्रश्न-पत्रों में क्रांतिकारियों को आतंकवादी लिखे जाने पर जांच के आदेश दिए हैं। श्री पटवारी ने प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा को तीन दिन में समिति द्वारा जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए है।

उल्लेखनीय है कि जीवाजी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित एम.ए. तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा में पूछे गऐ एक प्रश्न में क्रांतिकारियों को आतंकवादी लिखा गया जिसके विरोध में छात्र संगठन ने ज्ञापन सौंपा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.