हनीट्रैप में नया खुलासा – नाबालिग से कराई जिस्मफरोशी , 13 रसूखदार कारवाही की जद में

Scn news india

मनोहर

भोपाल – मध्यप्रदेश का हनीट्रैप मामला सुर्खियों में छाया है। इस मामले में आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं। अब एक बड़ा खुलासा हुआ है जिसमें 13 रसूखदार लोग फंसते नजर आ रहे हैं।  इनमें नेता से लेकर अफसर दोनों शामिल हैं।  इन लोगों के खिलाफ मानव तस्करी की एफआईआर के बाद अब रेप  और पॉक्सो एक्ट  के तहत कार्रवाई होना तय माना जा रहा है।

इस केस में पकड़ी गई पांच आरोपी महिलाओं में से एक नाबालिग है , जिससे गिरोह की सरगना ने जिस्मफरोशी करायी, कॉलेज छात्राओं के इस्तेमाल किये जाने की बात सामने आ रही है। मोनिका ने एसआईटी को बताया कि, ‘श्वेता ने उसे नामी कॉलेज में दाखिला करवाने में मदद के नाम पर ऐसा करने के लिए कहा था। श्वेता के बड़े अफसरों से खास संबंध थे। मुझे विश्वास दिलाने के लिए वह मंत्रालय भी लेकर गई थी। जहां उसने सचिव स्तर के तीन आईएएस अफसरों से मिलवाया।’

पूछताछ के दौरान यह भी पता चला कि श्वेता ने मोनिका को लग्जरी कार आडी भी इंदौर-भोपाल आने जाने के लिए दी थी।

गरीब मध्यमवर्गीय को बनाते थे शिकार 

हनी ट्रैप की मुख्य आरोपी श्वेता विजय जैन ने पूछताछ में एसआईटी को बताया है कि मध्यवर्गीय परिवार से आने वाली 20 से अधिक छात्राओं को अफसरों के पास भेजा गया। श्वेता ने इस बात का भी खुलासा किया है कि हनी ट्रैप का मुख्य उद्देश्य सरकारी ठेके, एनजीओ को फंडिंग करवाना और वीआईपी लोगों को टारगेट करना था। श्वेता ने बताया कि कई बड़ी कंपनियों को ठेके दिलवाने में मदद की। इस काम में उसकी साथी रही आरती दयाल ने भी अहम भूमिका निभाई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All rights reserved by "scn news india" copyright' -2007 -2019 - (Registerd-UANO/MP08D0011464/2019/WEB)
error: Content is protected !!