40 का तापमान भी मजदूरों के जज्बे को नहीं रोक पाया, जय स्तंभ चौक पर एक घंटे से अधिक चला भीख मांगने का अभियान, एक माह तक चलेगा जन -जागरण अभियान

scn news india

हर्षिता वंत्रप 

सारनी। ठेका मजदूर संघ के तत्वधान में एक माह तक चलने वाले जन-जागरण अभियान के सातवें दिन नगर की जय स्तंभ चौक पर ठेका मजदूर एकत्रित होकर 40 से अधिक के तापमान में एक घंटे से अधिक समय तक जय स्तंभ चौक पर एकत्रित होकर शासन-प्रशासन से रोजगार की भीख मांगते रहे।इस बीच ठेका मजदूर संघ के संरक्षक सुनील सरियाम ने ठेका मजदूरों को संबोधित करते हुए कहा गया कि यदि आज के समय में ठेका मजदूर एकजुट होकर रोजगार की लड़ाई नहीं लड़ पाए तो उन्हें दोबारा ऐसा अवसर नहीं मिलेगा।उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 से मध्यप्रदेश पावर जेनरेटिंग कंपनी को बचाने की मुहिम शुरू की गई थी। लेकिन इस दिेश में सफलता नहीं मिल पाई यदि ज्वाइंट वेंचर के अंतर्गत मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी को एनटीपीसी दिया जाता तो आज शहर की स्थिति में सुधार होता और रोजगार के संसाधन सारणी में बेहतर होते लेकिन ऐसा नहीं हो पाया जिसकी वजह से सारणी दिन-प्रतिदिन बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और रोजगार के लिए दूसरे जिले और राज्यों में पलायन करना पड़ रहा है।

इस क्षेत्र में रोजगार की कमी होना मुख्य कारण माना जा रहा है

क्षेत्र में संभावना होते हुए भी नए उद्योग की स्थापना नहीं की जा रही है,वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड पाथाखेड़ा की खदानें लगातार बंद हो रही है,लेकिन नई खदाने नहीं खुल पा रही है,नई खदानों के खोलने पर जोर दिया जाना चाहिए,
312.5 मेगावाट की 5 छोटी इकाइयों के डिस्मेंटल होने के बाद भी उसके स्थान पर नई इकाई की स्थापना नहीं की गई,जो बेरोजगारी का मुख्य कारण माना जा रहा है,
वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड मध्यप्रदेश पावर जेनरेटिंग कंपनी से लगातार कर्मचारी अधिकारियों के सेवानिवृत्त होने के कारण शहर से पलायन का दौर युद्ध स्तर पर जारी है,बाबा मठारदेव एवं भोपाली मेले को पर्यटन स्थल का दर्जा ना दिया जाना भी दुखत पहलू है,शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लघु उद्योग स्थापित नहीं किया गया,


शहरी ग्रामीण क्षेत्र के मजदूरों युवा बेरोजगारों की यह है समस्या,शासन के मापदंड के अनुरूप ठेका मजदूरों को न्यूनतम वेतन 18 हजार होना चाहिए, लेकिन ठेकेदार के माध्यम से यह राशि नहीं दी जाती,ठेका मजदूरों को मासिक वेतन पर्ची एवं ईपीएफ की संपूर्ण जानकारी ठेकेदार के माध्यम से मुहैया की जानी चाहिए,प्रत्येक ठेका मजदूरों का बीमा होना चाहिए एवं ठेका मजदूरों का प्रतिवर्ष चिकित्सा जांच होनी चाहिए,ठेका मजदूरों के साथ में दुर्घटना होने पर संपूर्ण खर्च की जवाबदेही ठेकेदार पर सुनिश्चित की जानी चाहिए,बाहरी क्षेत्र की कंपनी यदि सारणी मे आती है तो 80 प्रतिशत क्षेत्र के युवा बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराना चाहिए,
संपूर्ण बैतूल जिले में कार्यरत कंप्यूटर ऑपरेटर एवं सहायक बीएसएनल में वर्षों से कार्यरत दैनिक वेतन एवं ठेका श्रमिकों को नियमित किया जाना चाहिए, एवं बीएसएनल के ठेका मजदूरों को 8 माह से मजदूरी नहीं मिली है उन्हें मजदूरी दी जाना ।
जैसी मांगों को लेकर ठेका मजदूर संघ के माध्यम से रविवार को जन-जागरण अभियान शुरू किया अभियान के शुरू होने से क्षेत्र के युवाओं में जोश और ऊर्जा आने की संभावना जताई जा रही है। भीख मांगो अभियान में ठेका मजदूर संघ के संरक्षक सुनील सरियाम,अध्यक्ष राकेश नामदेव,महामंत्री दीपक भूमर कर,रामकिशोर यादव,नरेंद्र जगदेव,हेमराज देशमुख, मोहम्मद गुलाम गुलानी, विपुल मोहबे,दिनेश यादव, गुनगुन सूर्यवंशी,अविनाश सोनी,गुलाब यादव,रोहित नागले, जावेद खान,फिरोज खान,महेंद्र पथोरी,नौशाद, बलवंत,रतिश उइके, दीपक उइके,प्रह्लाद मंडल,वीरेंद्र खातरकर सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

 

एससीएन न्यूज मोबाइल ऍप डाउनलोड करने हेतु क्लिक करें

 

वी केयार वीमेन सेफ्टी ऍप डाउनलोड करने हेतु यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!