100  करोड़ में विधायकों को खरीदने का मामला , दिग्विजय के बयान  के बाद  सामने आये दोनों विधायक तो अब तीसरा भी  

scn news india

मनोहर

भोपाल – पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के 50 से 100 करोड़ में विधायकों को ऑफर देने के मामले में अब सियासत गरमा गई गई है , विधानसभा अध्यक्ष के चुने जाने के बाद भाजपा ने जहाँ विधानसभा से वॉकआउट कर दिया , वही भाजपा के इस व्यवहार को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने असंसदीय बता भाजपा को काट घरे में खड़ा कर दिया।  दूसरी और हार्स ट्रेडिंग के खतरे से कांग्रेस ओपन फ्लोर टेस्ट चाहती थी , कांग्रेस को डर  था की भाजपा उनके विधायकों को बरगला कर क्रास वोटिंग करा सकती है। किन्तु प्रोटेम स्पीकर ने नियमों का हवाला देते हुए एमपी प्रजापति को विधानसभा स्पीकर घोषित कर दिया।  इसके बाद भाजपा ने हंगामा शुरू कर दिया था।

इससे एक दिन पहले पूर्व   मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर उनके विधायकों को 50 से 100 करोड़ का ऑफर देने के का आरोप लगते हुए राजनीती के गलियारों में सनसनी फैला दी थी , वहीँ उन्होंने ने दवा किया था की समय आने पर वे उन विधायकों को सामने लाएंगे।  कल कांग्रेस के दोनों विधायक मिडिया के सामने आये जिसमे विधायक बाबू जंडेल और विधायक बैजनाथ ने खुले आम पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा एवं विश्वास सारंग पर रूपये ले कर भाजपा को समर्थन देने का आरोप लगाया है। की उन्हें 100 करोड़ का लालच दिया गया लेकिन उन्होंने मैंने से इंकार कर यह बात दिग्विजय सिंह को बताई और दिग्विजय ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को। वहीँ धार के विधायक पांचीलाल ने भी कहा है की उनसे भी भाजपा ने संपर्क किया था लेकिन वे नहीं गए।

वही इस मामले में पूर्व मंत्री विश्वास सारंग ने मामले को सिरे से ख़ारिज करते हुए कांग्रेस पर पलटवार किया उन्होंने कहा है की कांग्रेस वचन पत्र पर से जनता का ध्यान भटकना चाहती है।

उधर नरोत्तम मिश्रा ने कहा की यदि कांग्रेस के पास  सबुत  है तो उनके खिलाफ न्यायालय में जाये ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!