हाथियों के दल निकले सर्चिंग पर – बाघ रेस्क्यू आपरेशन

हर्षिता वंत्रप  

सारनी – चार दिनों से सारनी  नगरपालिका क्षेत्र के ओद्योगिक परिसर में बाघ सर्चिंग हेतु वन विभाग ने युद्धस्तर पर प्रयास करने शुरू कर दिए है एतिहातन धारा 144लगाना प्रशासन के लिए फायदेमंद साबित हुआ है जिसकी वजह से अनावश्यक आवागमन रुका है साथ ही शोर शराबे में भी कमी आई है। जो बाघ की लोकेशन जल्द ट्रेस करने में मददगार साबित होगा।  वही सतपुड़ा और कान्हा राष्ट्रीय उद्यान से बुलाये गए प्रशिक्षित हाथियों ने भी शहर में देर रात दस्तक दे दी है , सुबह 9 बजे से हाथियों के साथ महावत और वन अधिकारी कर्मचारी सर्चिंग पर निकल गए है , अब घनी झाड़ियों , दलदल युक्त जमींन व् दुर्गम स्थलों पर आसानी से सर्चिंग आपरेशन किया जा सकेगा। शाम तक अच्छी खबर की संभावना जताई जा रही है। वन विभाग के लिए जितना बाघ से जनता की सुरक्षा करना जरुरी  है ,उतना ही बाघ को बचाना भी आवश्यक है। दोनों ही विभाग के लिए चुनौती से कम नहीं।

जनता से सहयोग की अपील 

वन विभाग ,पुलिस विभाग एवं पावर जनरेटिंग विभाग ने स्थानीय नागरिकों से असुविधा के लिए खेद जताते हुए  सहयोग की अपील  की है , कि  अनावश्यक वाहनों का शोर ना फैलाये , झुंड बना कर या भीड़ लगा कर ना खड़े रहे ,जहाँ तक हो आवश्यकता पड़ने पर ही बाहर निकले , जितना शांत वातावरण होगा बाघ को ट्रेस कर पाना उतना ही आसान होगा। और जल्द क्षेत्र बाघ की दहशत से मुक्त हो पायेगा। यदि इन तमाम बातों का उलंघन करता हुआ कोई पाया जाता है तो उसके खिलाफ धारा 188 के तहत कारवाही की जा सकती है।

2 thoughts on “हाथियों के दल निकले सर्चिंग पर – बाघ रेस्क्यू आपरेशन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!