स्कूलों के शत्-प्रतिशत छात्रों का नेत्र परीक्षण कराया जायें- कलेक्टर तरूण राठीसमीक्षा के दौरान दिये गये अहम निर्देश

scn news india

Scn news india अभिषेक जैन संभाग ब्यूरो 
दमोह:कलेक्टर तरूण राठी ने वृद्धाश्रम में नेत्र परीक्षण शिविर आयोजित कर वृद्धजनों को आवश्यक दवाईयां एवं चश्मा मुहैया कराया जायें। उन्होंने स्कूलों के शत्-प्रतिशत छात्रों का नेत्र परीक्षण कराये जाने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा है कि विकासखण्डवार शिक्षकों का प्रशिक्षण कर प्रशिक्षण संबंधी महत्वपूर्ण बातों से अवगत करायें। यह भी कहा है कि जिन छात्रों को चश्में की आवश्यकता है, बनवाकर मुहैया करवाये जायें। श्री राठी आज दोपहर स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. राकेश राय को दिये। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत डॉ. गिरीश मिश्रा और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.के. बजाज विशेष रूप से मौजूद रहे।
कलेक्टर तरूण राठी ने जिला चिकित्सालय के संबंध में कहा कायकल्प के तहत सभी चिकित्सक संकल्पित होकर काम करें, निश्चित ही लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने इस दिशा में किये जा रहे प्रयासों और कार्यो के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये। श्री राठी ने जिले को क्षय रोग मुक्त करने की दिशा में रणनीति बनाकर कार्य करने के लिए कहा। उन्होंने कहा इसकी शुरूआत जिले के एक ब्लॉक का चयन कर प्रयास संगठित रूप से किये जायें। इस हेतु निजी अस्पतालों और चिकित्सकों की बैठक भी आयोजित करायी जायें। साथ ही जिले को कुष्ठ रोग मुक्त करने की चर्चा करते हुए कहा कि रणनीति बनाई जायें और इस दिशा में ठोस प्रयास किये जायें। उन्होंने कहा पथरिया ब्लॉक को लक्ष्य कर कुष्ठ मुक्ति का कार्य शुरू कर दिया जायें।
कलेक्टर तरूण राठी ने मलेरिया जन जागरूकता के लिए मुहिम के रूप में कार्य योजना बनाकर कार्य अंजाम देने के निर्देश दिये। उन्होने कहा जुलाई-अगस्त माह में ब्लॉकवार रक्त पट्टी बनवाकर जांच कराई जायें तथा घरों में लारवा पाये जाने पर जुर्माने की कार्रवाही के निर्देश दिये। श्री राठी ने कहा लारवा की जांच शहरी क्षेत्रों में प्रारंभ कराई जायें। उन्होंने डेंगू, फाईलेरिया और हाईड्रोसिल के संबंध में चर्चा करते हुए हाईड्रोसिल मरीजों का ऑपरेशन केम्प डेट तय कर कराये जाने के निर्देश दिये। यह भी कहा कि कैम्प का प्लान करें आवश्यक सहयोग प्रदान किया जायेगा। जिले में हाईड्रोसिल मरीजों की संख्या 163 है।
कलेक्टर ने फेमिली प्लानिंग के संबंध में कहा प्रत्येक ब्लॉक में 15-15 दिन के अंतराल में कैम्प आयोजित कराये जायें, इस हेतु नोडल अधिकारी प्रति सप्ताह प्लानिंग अनुसार लक्ष् प्राप्ति के लिए दृढ़ता से प्रयास करें। इस कार्यक्रम का व्यापाक प्रचार-प्रसार किया जायें, इस हेतु आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ता-सहायिका, आशा कार्यकत्र्ता और स्वास्थ्य विभाग का मैदानी अमला समन्वय से कार्य करें, निश्चित ही बेहतर परिणाम मिलेंगे। बैठक में सिविल सर्जन डॉ. ममता तिमोरी, डॉ. संगीता त्रिवेद्वी, डॉ. तुलसा ठाकुर, आर.एम.ओ. डॉ. दिवाकर पटैल तथा जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.रेक्शन सहित अन्य नोडल अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!