राप्तीसागर में फ़ूड पाइजनिंग का मामला 50 से अधिक हुए बीमार , नेपाली युवक की मौत

scn news india

 

मनीष मालवीय ब्यूरो इटारसी 

इटारसी – एक बार फिर रेलवे की पेंट्रीकार में लापरवाही का मामला सामने आया है त्रिवेंद्रम से गोरखपुर जा रही राप्तीसागर गोरखपुर एक्सप्रेस 12512 में देर शाम आशंका है कि अंडा बिरयानी खाने के बाद एस 7 कोच में  50 से अधिक  यात्रियों की हालत बिगड़ी है ।  इटारसी से बैतूल पंहुचते पंहुचते यात्रियों को उल्टी दस्त की शिकायत से  हड़कंप मच गया और रेल प्रशासन को  आमला में ट्रेन को रोकना पड़ा।

बताया जा रहा है की इसी बीच इस ट्रेन के एस 1 में यात्रा कर रहे नेपाल के युवक यात्री अनिल थापा की मौत हो गयी है। जो अपने परिजनों के साथ बर्थ क्रमांक 57, 58, 68 पर यात्रा कर रहे थे। जानकारी मिली है कि  वे बीमार चल रहे थे जिसके चलते उनकी मौत हुई है जिसका फ़ूड पाइजनिंग से कोई संबंध नही है।  जिनके पार्थिव शरीर को आमला स्टेशन परउतारा गया है , फ़ूड पाइजनिंग मामले की रेल प्रबंधन जांच कर रहा है।

क्या था पूरा मामला 

ट्रेन नंबर 12512 त्रिवेन्र्दम से गोरखपुर जा रही राप्ती सागर एक्सप्रेस में फ़ूड पॉइज़निंग के शिकार हुए कई यात्रियों को इटारसी रेलवे स्टेशन पर स्थानीय अस्पताल की टीम ने उपचार दिया,ज्यादातर यात्रियों को नागपुर और आमला स्टेशन पर उपचार मिल गया था,शेष यात्रियों को इटारसी रेलवे स्टेशन पर उपचार दिया गया,बताया जा रहा है कि नागपुर स्टेशन के पहले पेंट्रीकार के किसी वेंडर ने यात्री को अड़ा बिरयानी दी थी जिसके खाने के बाद यात्री की तबियत खराब होने लगी,यात्रियों की शिकायत के बाद रेलवे डॉक्टरों की टीम ने नागपुर और आमला रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को उपचार दिया।रेलवे कटोल को राप्ती सागर एक्सप्रेस के स्लीपर कोच एस-7,9,11 में बड़ी सख्या में फ़ूड पॉइज़निंग की सूचना मिली,जिसके बाद इटारसी रेलवे स्टेशन पर रेलवे अधिकारी,जीआरपी,सिटी पुलिस स्थानीय प्रशासन और सरकारी अस्पताल और रेलवे अस्पताल की टीम रेलवे स्टेशन पर पहुँची,ट्रेन स्टेशन पर आने के बाद डॉक्टरों की टीम द्वारा करीब 25 फ़ूड पॉइज़निंग के शिकार हुए यात्रिओ का उपचार शुरू किया,जिनकी ज्यादा तबियत खराब थी उन्हों डॉक्टरों द्वारा इजेक्शन दिया गया,मरीजो को टीम द्वारा ओआरएस के पैकेट भी डॉक्टरों द्वारा दिया गया यात्रियों ने बताया कि बुधवार की रात में पेंट्रीकार के वेंडर द्वारा अंडा बिरयानी दी थी,जिसे खाने के बाद पेट मे दर्द और उल्टी की शिकायत अड़ा बिरयानी खाने वाले यात्रिओ को हुई,नागपुर स्टेशन आने के पहले टीटी को तबियत खराब होने की शिकायत की थी,जिसके बाद नागपुर और आमला स्टेशन पर डॉक्टरों द्वारा उपचार दिया गया,इस सबध में पेंट्रीकार के मैनेजर ने कहा कि अंडा बिरयानी खाने से यात्री बीमार नही हुये है अगर बिरयानी खाने से यात्री बीमार होते तो और भी कोच में सवार यात्री बीमार क्यो नही हुये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!