राजा भोज द्वारा स्थापित सामाजिक मूल्यों और परम्पराओं एवं संस्कृति को नई पीढ़ी तक पहुंचाना हम सबका दायित्व – मुख्यमंत्री कमलनाथ

scn news india

मनोहर

छिंदवाड़ा – मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि राजा भोज ने लोगों के दिल को जीता। उन्होंने देश और जनकल्याण की अद्भुत मिशाल पेश की। उनके द्वारा स्थापित सामाजिक मूल्यों और परम्पराओं एवं संस्कृति को नई पीढ़ी तक पहुंचाना अब हम सबका दायित्व है।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने छिन्दवाड़ा में आज राजा भोज जयंती एवं बसंत पंचमी के पावन अवसर पर सर्किट हाउस के समीप सर्किट हाउस तिराहे पर जिला क्षत्रिय पवार समाज संगठन छिन्दवाड़ा के तत्वावधान में स्थापित की गई राजाभोज की विशाल धातु प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने इसी अवसर पर 22 करोड़ रूपये की लागत से निर्मित छिन्दवाड़ा शहर के लिये नियमित जल प्रदाय योजना भी लोकार्पित की। योजना को निर्धारित समय से 20 दिन पहले ही मात्र 45 दिनों में पूरा किया गया। इस योजना के अंतर्गत माचागोरा बांध से 35 किलोमीटर 600 एम.एम.व्यास की पाईप लाईन छिन्दवाड़ा नगर लायी गई। अब एक मार्च से प्रतिदिन पेयजल आपूर्ति की जायेगी। इससे करीब एक लाख 75 हजार नागरिक लाभान्वित होंगे।


मुख्यमंत्री श्री नाथ ने अपने उद्बोधन में बसंत पंचमी की सभी नागरिकों को शुभकामनायें देते हुये कहा कि राजा भोज की एक सोच और कल्पना थी। उन्होंने उस समय देश और अपनी संस्कृति को एक दिशा दी। यह आज वर्तमान परिप्रेक्ष्य में समझने की बात है। प्रत्येक समाज के बुजुर्गो और हर परिवार की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है कि भारत की पहचान बनाने वाली संस्कृति और सामाजिक मूल्यों से इंटरनेट और विज्ञान की ऊंचाईयों की ओर बढ़ती युवा पीढ़ी को जोड़े। यही प्रयास देश के निर्माण में सहायक होंगे और उसे महान बनायेंगे। इन प्रयासों के लिये संकल्प लेने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि देश में हर क्षेत्र में विविधता है, तो भी हम एकता के मजबूत सूत्र में बंधे है। यही विशेषता है जिसे समझना और कायम रखना है। पूरा विश्व हमारी हर दिल को जोड़ने वाली संस्कृति को आश्चर्य से देखता है।


मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि छिन्दवाड़ा के नागरिकों का जो प्यार और विश्वास उन्हें हमेशा से मिलता रहा है, वहीं उनकी पूंजी है। उन्होंने कहा कि इसी ताकत के बल पर चुनौतियों को जीतकर विकास पथ पर अग्रसर होते जायेंगे। एक चुनौती थी छिन्दवाड़ा की पेयजल समस्या का निराकरण। इसका एक मार्च 2019 तक समाधान करने का निर्णय लिया गया। पर यह समस्या तो आज 10 फरवरी को ही दूर हो गई। छिन्दवाड़ा नगर निगम क्षेत्र से जुड़ी ग्रामीण सड़कों के निर्माण की तुरंत स्वीकृति प्रदान की गई। इसमें करीब सवा लाख लोगों को लाभ होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं विकास कार्यो की घोषणा नहीं करना चाहता। जब हाईवे बन रहा था तब मैने शिलान्यास नहीं किया था। कभी घोषणा नहीं की थी कि रेल दिल्ली तक चलेगी। मैने कहा जब रेल चलेगी तो जनता के सामने आ जायेगा। जो विकास होता है वह जनता को दिख जाता है। आज बदलता हुआ, बढ़ता हुआ छिन्दवाड़ा आपके सामने है। छिन्दवाड़ा की अपनी पहचान है। आज मेडिकल कॉलेज का मैने निरीक्षण किया। इसके लिये 3-4 बैठके भोपाल में हुई। आज की बैठक में मैंने कहा कि मैं छिन्दवाड़ा में मेडिकल कॉलेज का ऐसा अस्पताल चाहता हूं कि यहां आस-पास और दूर-दूर के लोग भी ईलाज कराने आये। इसे विश्व स्तर पर पहचान वाला अस्पताल बनाने का हमारा प्रयास रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला क्षत्रिय पवार संगठन के मांग पत्र पर विचार कर निर्णय लिया जायेगा।
 घोषणा :- कलेक्टर डॉ.श्रीनिवास शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास योजना के अंतर्गत नगर पालिक निगम छिन्दवाड़ा से जुड़े 24 नवीन ग्रामों की 67 किलोमीटर की 38 सड़कों के निर्माण का कार्य एक माह में प्रारंभ कराया जायेगा। इसके लिये 50 करोड़ रूपये की राशि प्राप्त हो गई है।
कार्यक्रम में क्षेत्रीय विधायक श्री दीपक सक्सेना ने कहा कि आज का दिन इतिहास में विशेष दिन के रूप में दर्ज किया जायेगा। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने गरीबों, किसानों और हर वर्ग के लोगों के लिये अपने वचन पत्र के अनुसार कार्य प्रारंभ कर दिया है। अब निराश होने की जरूरत नहीं है। गरीबों, किसानों और हर वर्ग की समस्याओं को दूर किया जायेगा और लोगों के सपने पूरे होंगे। उन्होंने कहा कि छिन्दवाड़ा नगर की पेयजल की समस्या को प्राथमिकता के आधार पर हल किया गया है और एक मार्च से छिन्दवाड़ा नगर के लोगों को प्रतिदिन पेयजल की आपूर्ति की जायेगी। उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत छिन्दवाड़ा नगर निगम क्षेत्र के लिये 350 करोड़ रूपये की कार्य योजना को स्वीकृति प्रदान की गई है और 50 करोड़ रूपये का आवंटन अभी उपलब्ध करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि छिन्दवाड़ा नगर में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज को अत्याधुनिक बनाया जायेगा। इस कॉलेज में धीरे-धीरे बिस्तरों की संख्या 500 से 750 और आगे 1200 तक बढ़ाई जायेगी। उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज के परिसर में ही हैलीपेड बनाया जायेगा जिससे मरीजों को बेहतर उपचार के लिये देश के अन्य बड़े अस्पतालों में एयर एम्बुलेंस के माध्यम से भेजा जा सकेगा और अत्यावश्यक दवाईयां भी बुलाई जा सकेंगी। उन्होंने बताया कि किसानों को नियमित रूप से बिजली की आपूर्ति की व्यवस्था भी की गई है।
मुख्यमंत्री श्री नाथ का आत्मीय अभिनंदन – मुख्यमंत्री श्री नाथ ने मंच पर पहुंचते ही प्रारंभ में सभी का अभिवादन करते हुये उनका अभिवादन भी स्वीकार किया। मुख्यमंत्री श्री नाथ का राजा भोज समिति और अन्य सामाजिक संगठनों के साथ ही छिन्दवाड़ा जिला मुख्यालय और विकासखंड स्तर से आये विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों और सदस्यों ने पुष्पहारों से आत्मीय अभिनंदन किया। मुख्यमंत्री श्री नाथ को राजा भोज समिति के पदाधिकारियों ने अभिनंदन पत्र और स्मृति चिन्ह प्रदान किये। समिति के सचिव श्री बलवंत कड़वे ने मुख्यमंत्री को प्रदाय किये गये अभिनंदन पत्र का वाचन किया तथा समिति के अध्यक्ष श्री हेमराज पवार ने प्रतिमा स्थापना के संबंध में संक्षिप्त जानकारी देने के साथ ही समाज द्वारा प्रस्तुत मांग पत्र का वाचन भी किया। कुमारी मयूरी भादे और अन्य छात्राओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। अंत में समिति के श्री मनीष डोंगरे ने आभार व्यक्त किया।
पेयजल व्यवस्था पर फिल्म का प्रदर्शन – मुख्यमंत्री श्री नाथ की विशेष पहल पर माचागोरा बांध से छिन्दवाड़ा शहर में नियमित पेयजल व्यवस्था के शुभारंभ पर केन्द्रित एक फिल्म का समारोह में प्रदर्शन किया गया। इस फिल्म में बताया गया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री नाथ की विशेष पहल पर 22 करोड़ रूपये की लागत से माचागोरा बांध से छिन्दवाड़ा शहर तक 35 किलोमीटर की 600 एम.एम.व्यास की पाईप लाईन बिछाई गई। नगर निगम के तकनीकी अधिकारियों और कर्मचारियों ने अत्यंत उत्साह और लगन से इस कार्य को निर्धारित समय से 20 दिन पूर्व मात्र 45 दिनों में इसे पूर्णता प्रदान की। इससे अब छिन्दवाड़ा नगर निगम क्षेत्र के लगभग 1.75 लाख नागरिकों को जहां प्रतिदिन पेयजल प्राप्त होगा, वहीं आगामी कई दशकों तक छिन्दवाड़ा नगर निगम क्षेत्र पेयजल समस्या से मुक्त रहेगा।
कार्यक्रम में नगर निगम की महापौर श्रीमती कांता सदारंग, विधायकगण सर्वश्री सोहनलाल वाल्मिक, विजय चौरे, सुनील उईके, सुजीत चौधरी, कमलेश शाह और निलेश उईके, श्री नकुल नाथ, श्री गंगा प्रसाद तिवारी, अन्य जनप्रतिनिधि, जिला क्षत्रिय पवार समाज संगठन और राजाभोज समिति के पदाधिकारी और सदस्य, संभाग आयुक्त श्री राजेश बहुगुणा, आई.जी. श्री विवेक शर्मा, डी.आई.जी.डॉ.जी.के.पाठक, पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार राय, नगर निगम आयुक्त श्री इच्छित गढ़पाले, जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी, पत्रकार तथा बड़ी संख्या में नागरिकगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!