राजस्व मंत्री को तत्काल मंत्री पद से हटाने कि मांग की

scn news india

अभिषेक जैन 

दमोह। जया ठाकुर के स्वामित्व वाली प्लाट खसरा नंबर 181/1, रकबा 0.92 हेक्टर, रतनपुर, तहसील शाहगढ़, सागर मध्यप्रदेश प्रदेश के राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के द्वारा अपने भतीजे रंजीत सिंह के माध्यम से अवैध कब्जा कर गैर कानूनी रूप से खनन कार्य किया जा रहा था। जिस पर जया ठाकुर ने लगभग सभी संबंधित विभागों में लिखित नामजद शिकायत दर्ज कराई थी किंतु कोई कार्यवाही नहीं की गई एवं प्लाट की पैमाईमश में भी अनावश्यक अड़चनें पैदा की गई। जिससे व्यथित होकर जया ठाकुर द्वारा माननीय उच्च न्यायालय व माननीय सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर की। जिस पर माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने दिनांक 26 जुलाई 2019 को एस.एल.पी. सिविल नंबर 16849/2019 में आदेश पारित कर कलेक्टर, सागर को जांच कर एक माह में रिपोर्ट सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल करने हेतु आदेश जारी किया। तत्पश्चात् जिला प्रशासन ने जांच पश्चात् यह पाया कि रंजीत सिंह द्वारा उक्त जमीन पर अवैध कब्जा कर गैर कानूनी रूप से खनन किया जा रहा था। जिला प्रशासन ने मुकदमा दर्ज कर रुपए 20.60 लाख का जुर्माना भी लगाया है। उक्त समस्त तथ्यों से यह बिल्कुल स्पष्ट है कि प्रदेश के मंत्री की जमीन पर अवैध कब्जा कर, गैर कानूनी रूप से खनन करने कार्य में संलिप्त हैं। जिस कारण राजस्व मंत्री जी को अपने पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। राजस्व मंत्री को तत्काल प्रभाव से मंत्री मंडल से निष्कासित किए जाने की मांग अखिल भारतीय लोधी समाज अधिवक्ता संघ करता है और साथ भारतीय दंड संहिता की धारा 379,411 के तहत आपराधिक मुकमदमा दर्ज कर उचित कार्रवाई तत्काल किए जाने की मांग करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!