मिशन माउंट एवरेस्ट अभियान मे जुटी है भावना, सीएम कमलनाथ ने दी बधाई

scn news india

नितिन दत्ता

तामिया(छिंदवाडा) – तामिया की बेटी मिशन माउंट एवरेस्ट अभियान के लिये आज से चढाई शुरु करेंगी बीते 3 अप्रैल से लगातार मिशन मे जुटी भावना अभियान के सभी चरणो को सफलता पूर्वक पूरा कर बेस कैम्प मे डटकर अपने मिशन के लिये जुटी है | भावना बीते 3 अप्रैल से अभियान मे सक्रिय है इसी बीच मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ईमेल के माध्यम से भावना की हौंसला आफजाई करते हुये कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हुई कि आप माउंट एवेरेज के अपने अभियान के लिए तैयार हैं, मुझे यकीन है कि आप छिंदवाड़ा और मध्यप्रदेश को गौरवान्वित करेंगे इसी के साथ हार्दिक शुभकामना दी है | तामिया की पर्वतारोही भावना डेहरिया को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ से आर्थिक मदद मिल जाने के बाद माउंट एवरेस्ट अभियान मे शामिल है | दुनिया की सर्वाधिक उंचाई वाली चोटी माउंट एवरेस्ट 8848 मीटर को लेकर तामिया की भावना जुटी हुई है | मिशन माउंट एवरेस्ट के पहले प्रक्रिया मे जूटी भावना ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित समस्त जनप्रतिनिधियो सहित पूरे प्रदेश जिले वासीयो का आभार जताते हुये कहा कि सभी के सहयोग से यह संभव हुया है | एशियन ट्रेकिंग प्रायवेट लिमिटेड के माध्यम से माउंट एवरेस्ट मिशन के लिये भावना दिल्ली से आगामी 3 अप्रैल से नेपाल की राजधानी काठमांडू पहुंची थी वहा से 6 अप्रैल 2019 को अभियान के लिये लुकला रवाना हों गयी थी | वही नेपाल की एशियन ट्रेकिंग प्रायवेट लिमिटेड से जारी कार्यक्रम के मुताबिक लुकला (2840 मीटर )पहुंचने के बाद वहा से ट्रेक करते हुये 7 अप्रैल को नामचे बाजार(3440 मीटर) 8 अप्रैल को नामचे बाजार से खुमजुंग ग्रीन वैली (3780 मीटर) ट्रेकिंग के बाद 9 को टेंगबूचे मोंनेस्ट्री (3860 मीटर) से होते हुये 10 अप्रैल को डिंगबूचे (4410 मीटर) के बाद 11 अप्रैल को लोबूचे (4915 मीटर ) के लिये निकले वहा 12 अप्रैल को लोबूचे के बाद 13 अप्रैल को वहा से एवरेस्ट बेस कैंप (5380 मीटर) मे एवरेस्ट के लिये पारम्पारिक पूजा कार्यक्रम क्लाबिंग के लिये 3 दिन का कैंप किया | 17 अप्रैल 2019 को वापस लोबूचे (4915 मीटर) 18 अप्रैल को लोबूचे इस्ट हाई कैंप मे क्लाइंबिंग करते हुये पहुंचे | 19 को लोबूचे ईस्ट (6119 मीटर )सबमिट करेंगे| वहा से लोबूचे कैम्प मे वापस होने के बाद फिर से 20 अप्रैल लोबूचे मे क्लाईबिंग ट्रैनिंग के बाद 21 अप्रैल को वापस एवरेस्ट बेस कैम्प (5380 मीटर) मे पहुंचें | उसके बाद 30 दिन का यानी 22 अप्रैल से 21 मई 2-19 तक माउंट एवरेस्ट मिशन शुरु मे भावना मिशन एवरेस्ट को लेकर बुलंद हौंसलो से जुटी हुई है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!