महिला डॉ की संवेदनहीनता, मरीज के परिजन से मांगे 1 करोड़ की वेंटिलेटर मशीन – वीडियो वायरल

scn news india

अभिषेक जैन 
सागर : संभाग के सबसे बड़े अस्पताल बुन्देलखण्ड मेडीकल कॉलेज में एक असंवेदनशील मामला सामने आया है। यहां ईलाज कराने पहुँचे मरीज के गरीब परिजनो के सामने शिशु रोग विभाग में तैनात ‌डाक्टर ज्योती राउत ने कुछ ऐसी मांग रख दी जिसे पूरा करना शायद उस परिवार के वश मे नही था। डॉक्टर साहिबा ने बीमार बच्चे के परिजनों से कहा कि आपके बच्चे के इलाज के लिए वेंटीलेटर चाहिए, जो हमारे अस्पताल के नही है। वेंटीलेटर मशीन एक करोड़ रुपए कि आती है आप ला देंगे क्या?

डॉक्टर जब परिजनों को इस तरह की असंवेदनशील सलाह दे रही थी तो परिजनों ने ही इसका वीडियो बना लिया, जो कि अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। दुःखद यह है कि अस्पताल में भर्ती पीड़ित बच्ची को बचाया नही जा सका। डॉक्टरों की लापरवाही और अस्पताल प्रंबधन के पास ईलाज के पर्याप्त संसाधन नही होने ‌का आरोप लगाते हुए मृतक बच्चे के परिजनों ने डॉक्टर और अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। परिजनों ने बुंदेलखंड अस्पताल के सामने बच्चे का शव रख प्रदर्शन किया।

दरअसल शुक्रवार को कर्रापुर निवासी देवेंद्र अहिरवार की ढेड वर्षीय बेटी अंशिका खेलते- खेलते गर्म पानी की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गई। जिसे परिजनो ने बुंदेलखंड मेडीकल कॉलेज सागर मे इलाज हेतु भर्ती किया। परिजनो ने इस मामले मे डॉक्टरों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि बच्ची की स्थिति को देखते हुए अस्पताल में मौजूद डॉक्टरों ने उसे निजी अस्पताल मे ले जाने पर जोर दिया। लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नही होने की वजह से परिजन उसे किसी और अस्पताल नही ले जा सके।

परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने बच्ची को भर्ती तो कर लिया पर समय पर उसका इलाज शुरू नही किया, बच्ची दर्द में तड़पती रही जिसके बाद परिजनों ने जब डॉक्टर से इलाज करने की गुजारिश की तो डॉक्टर ने एक करोड़ की वेंटीलेटर मशीन लेकर आने की बात कह परिजनों को झडक दिया।

जिसके बाद बच्ची की हालत लगातार बिगड़ती गई और बच्ची की मौत हो गई। मृत बच्ची के चाचा बृजेन्द्र अहिरवार की मानें तो इस मामले मे प्रशासन से लेकर सरकार तक गुहार लगाई पर कहीं से कोई मदद नही मिली जिसके चलते एक मासूम जान सिस्टम की भेंट चढ़ गई। पीड़ित परिवार ने इस मामले मे हुई लापरवाही की लिखित शिकायत भी गोपालगंज थाने में दर्ज कराई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!