मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित होने से बचा लिया चीन ने -अमेरिका नाराज

scn news india

संयुक्त राष्ट्र (UN) की सुरक्षा परिषद में चीन ने एक बार फिर से अड़ंगा डाल मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित होने से बचा लिया. एक आतंकवादी को बचाने के लिए चीन के कदम की अमेरिका ने सख्त लहजे में आलोचना की है. अमेरिका की ओर से कहा गया कि  “यह चौथी बार है जब चीन ने ये अड़ंगा लगाया है।  चीन को इस काम को करने से सुरक्षा परिषद को नहीं रोकना चाहिए. लेकिन ऐसा हुआ. ऐसा होने से उपमहाद्वीप में शांति का मिशन फेल हो गया है। वही भारत भी चीन के इस अड़ंगे से निराश हुआ है लेकिन भारत की और से भी कहा गया है की आतंकवाद के  खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी। इधर भारत मे भी चीन की इस करतूत के खिलाफ लोगों में गुस्सा है , भारत के नागरिक चीन के इस रवैये से नाखुश है और सबक सीखने चीनी वस्तुओं के बहिष्कार  करने के साथ उपयोग पर प्रतिबन्ध लगाने की मांग पर उतारू है। यदि ऐसा होता है तो चीन को बड़ा आर्थिक झटका लग सकता है क्योकि अकेले भारत में ही चीन के 70  फिसदी उत्पाद का व्यापार होता है।  भारत के साथ चीन के व्यापार में पहली तिमाही में मजबूत वृद्धि दर्ज की गई थी  और द्विपक्षीय व्यापार 22.1 अरब डॉलर तक पहुंच गया है, जोकि साल-दर-साल आधार पर 15.4 फीसदी की वृद्धि दर है।

एक नजर भारत -चीन के व्यापार पर 

चाइनीज जनरल एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ कस्टम के अनुसार साल 2017 में दोनों देशों के बीच कारोबार 18.63 फीसदी की दर से बढ़ा है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब दोनों देशों के बीच 84.44 बिलियन डॉलर का कारोबार हुआ है। पिछले साल दोनों देशों के बीच 71.18 बिलियन डॉलर का कारोबार हुआ था।

भारत का एक्सपोर्ट 39.11 फीसदी बढ़ा .
डाटा के अनुसार साल 2017 में भारत से चीने को होने वाला एक्सपोर्ट 39.11 फीसदी बढ़कर 16.34 बिलियन डॉलर यानी 1 लाख करोड़ से ज्यादा हो गया है। वहीं, इस दौरान भारत में होने वाला इंपोर्ट 14.59 फीसदी बढ़कर 68.10 बिलियन डॉलर यानी 4.4 लाख करोड़ से ज्यादा पहुंच गया है।

ट्रेड डेफिसिट 51.75 बिलियन डॉलर .
ट्रेड रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के बाद भी भारत का ट्रेड डेफिसिट हाई बना हुआ है। साल 2017 में सालाना आधार पर भारत का ट्रेड डेफिसिट 8.55 फीसदी बढ़कर 51.75 बिलियन डॉलर यानी 3.36 लाख करोड़ पर पहुंच गया है। भारत लगातार चीन पर यह दबाव बना है कि फार्मा और आईटी सेक्टर को भी इंडियन फर्म्स के खोल दे, जिससे ट्रेड डेफिसिट कम करने में मदद मिलेगी।

चीन को एक्सपोर्ट करने वाला 24वां बड़ा देश
ट्रेड डाटा के अनुसार चीन को अपने प्रोडक्ट एक्सपोर्ट करने वाला भारत दुनिया का 24वां बड़ा देश बन गया है। वहीं, चीन के लिए भारत 7वां सबसे बड़ा एक्सपोर्ट डेस्टिनेशन बन गया है। साफ है कि अभी भारत से सामाना खरीदने की बजाए भारत को सामान बेचने के मामले में चीन बहुत आगे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!