मध्यप्रदेश में गिर सकती है कांग्रेस सरकार – गोपाल भार्गव

scn news india

मनोहर

भोपाल -लोकसभा चुनावों  एग्जिट पोल आने के बाद  देश ही नहीं प्रदेश में भी सियासी हलचल तेज हो गई है। सर्वे में भारतीय जनता पार्टी को बहुमत मिलने के आसार के बीच मध्य प्रदेश के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने महामहिम राज्यपाल को पत्र लिख विधानसभा का विशेष सत्र बुलाए जाने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष कहा है की प्रदेश में नई की सरकार को 6 माह हो गए है , इन 6 माह में प्रदेश में ज्वलंत व् तात्कालिक महत्त्व की समस्याऐं उत्पन्न हो गई है। पेयजल संकट , किसान ऋण माफ़ी , मंडियों में भुगतान ना होने से किसान परेशान एवं जरुरत मंद हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा। वही उन्होंने विगत विधान सभा को लघु सत्र बताते हुए कहा की इस सत्र में समयाभाव की वजह से चर्चाएं नहीं हो सकी थी। उन्होंने विशेष सत्र बुलाये जाने की मांग की है।

गोपाल भार्गव नई सरकार को अल्पमत सरकार बताते है उन्होंने दावा किया  है कि कमलनाथ सरकार के पास बहुमत नहीं है। यदि विधानसभा सत्र के दौरान फ्लोर टेस्ट कराया जाता है तो सिद्ध हो जाएगा और सरकार गिर जायेगी।

इसी मामले में कांग्रेस के मंत्री गोविन्द सिंह का कहना है की भाजपा सत्ता हथियाने छटपटा रही है सत्ता की भूखी  भाजपा कुर्सी की लालसा में लोकतंत्र का मजाक बना रही है , लेकिन कमलनाथ सरकार में सभी विधायक चट्टान की तरह अडिग है , भाजपा तो 12 दिसम्बर से सरकार गिराने की कोशिश में लगी थी ,जब शपथ भी नहीं ली गई थी। फिर शपथ ग्रहण के बाद सरकार गिराने में लगी रही , लेकिन कामयाब नहीं हो पाई। ऐसा नहीं है की भाजपा के विधायक कांग्रेस के संपर्क में नहीं है।

उन्होंने गोपाल भार्गव को नसीहत देते हुए कहा है की विधानसभा में जनता ने कांग्रेस को सेवा का अवसर दिया है , और भाजपा को विपक्ष की भूमिका। तो ऐसे में भाजपा को ईमानदारी के साथ जनता का अभिमत स्वीकार कर विपक्ष की भूमिका निभानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!