बड़ी खबर– अजयगढ थाने से शातिर आरोपी प्रवीण मीणा फरार

scn news india

मोहम्मद आज़ाद अजयगढ़ ब्यूरों 
पन्ना – अजयगढ थाने से शातिर आरोपी प्रवीण मीणा फरार  होने की खबर है ,कल ही राजस्थान पुलिस ने शातिर आरोपी प्रवीण मीणा को पन्ना पुलिस को सौंपा था ।  और एक रात भी अजयगढ थाना पुलिस आरोपी को संभाल नही पाई , शातिर आरोपी हथकड़ी सहित अजयगढ थाने से फरार हो गया।
बताया जा रहा है कि अजयगढ थाने से तड़के लगभग 4 बजे शातिर आरोपी फरार हुआ है  .

विगत दिनों पेट्रोल पम्प संचालक  संजय सुल्लेरे को एडिश्नल एसपी बन कर ठगी में आरोपी था प्रवीण मीणा।  आरोपी के फरार होने पट पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठ रहे सवाल उठने लगे है।  एसपी मयंक अवस्थी ने बताया है कि पुलिस ने उसकी तलाश में चारों ओर नाकेबंदी कर दी है जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

क्या था मामला 

29 मई 2019 को अजयगढ़ थाने के प्रधान आरक्षक राकेश गर्ग को ठगों ने फोन कर खुद को पन्ना एडिशनल एसपी बताते हुए नगर के प्रतिष्ठित व्यवसाई और भाजपा नेता संजय सुल्लेरे से बात कराने को कहा, जहां प्रधान आरक्षक द्वारा आरक्षक आईमत सेन को भेजा गया, आरक्षक ने व्यवसाई से उक्त व्यक्ति की फोन पर बात कराई जिस पर उक्त व्यक्ति द्वारा थोड़ी देर बाद बात करने को कहा गया, थोड़ी देर बाद बात करने पर उक्त व्यक्ति ने खुद को पन्ना एडिशनल एसपी बताते हुए उनके पेट्रोल पंप का अकाउंट नंबर मांगकर कहा कि मैं कुछ पैसे डाल रहा हूं , आप यह मेरे आकाउंट में भेज देना, प्रतिष्ठान पर आए नगर कोतवाली के आरक्षक और फोन पर एडिशनल एसपी का नाम सुनकर उक्त व्यवसाई भरोसे में आ गया और कुछ ही देर बाद व्यवसाय के व्हाट्सएप नंबर पर एक फर्जी बैंक की स्लिप भेजी गई जिसमें 60100 रुपए पेट्रोल पंप के अकाउंट में भेजा जाना दर्शाया गया था।

जिसके कुछ देर बाद उक्त व्यक्ति का फोन आने लगा जिसमें कहा जा रहा था, कि बच्चे कोटा में पढ़ते हैं। और आप इन खातों पर पैसे भेज दो परंतु व्यवसाई द्वारा अकाउंट चेक करने पर पैसे नहीं आये थे जिस पर खुद को एडिशनल एस.पी. बताने वाले व्यक्ति द्वारा दूसरी शिफ्ट में पैसे आने का भरोसा दिलाया गया जिस पर व्यवसाई द्वारा खातों में 25000- 25000 की रकम ट्रांसफर कर दी गई और जब यह बताने के लिए फोन करना चाहा तब तक उक्त मोबाइल नंबर बंद हो चुका था।

जिससे शक हुआ जिसपर पीड़ित ने अजयगढ़ एसडीओपी इसरार मंसूरी से एडिशनल एसपी का नंबर मांग कर कॉल की तो पता चला कि उन्होंने ना ही कोई फोन किया और ना ही कोई रकम संबंधी बात हुई तब व्यवसाई संजय सुल्लेरे को ठगे जाने का एहसास हुआ, जिन्होंने तत्काल अजयगढ़ कोतवाली पहुंचकर अज्ञात ठगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, पुलिस ने धारा 420 के तहत मामला दर्ज कर अज्ञात ठगों की लोकेशन ट्रेस करना प्रारंभ किया, जहां बताया जा रहा है। कि काफी हद तक सफलता प्राप्त हुई थी ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!