निमोरा मार्ग जलमग्न , ठेकेदार की लापरवाही से 60 से 70 गांव के लोग प्रभावित

scn news india

संतोष मोदी 

नरसिंहगढ़ -भारी बारिश से सुनार नदी के दिशा बदलने पर निमोरा मार्ग पूरी तरह जलमग्न हो गया है।  हालात ये है कि सड़क से आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया है। एससीएन न्यूज के माध्यम से लगभग 3 माह पूर्व इस भयावह स्थिति की आशंका पहले ही जताई गई थी किंंतु प्रशासन ने गंभीरता से नहीं लिया। अब हालत बिगड़ गए है। पूरी रोड पर पानी  आ जाने से तेज बहाव के चलते  लोगों का आना जाना दुर्भर हो गया है।

सुनार नदी मडिया के पास मीडिया के माध्यम से लगभग सात-आठ सालों से मांग उठाई जा रही थी कि पानी का बहाव या खेतों में से हो गया इसे बाउंड्री वॉल बनाकर नदी का रुख नदी में से ही रहे लेकिन इस जगह पर बाउंड्री वॉल तो बनाई गई एक करोड़ 89 लाख की लागत से लेकिन बाउंड्री वॉल पूर्व नहीं बनाई और जहां से पानी का बहाव बंद होना चाहिए था ,

वहीं से पानी का बहाव और ज्यादा कर दिया गया क्योंकि उस जगह की बाउंड्री वॉल बनाते समय ठेकेदार के द्वारा मटेरियल उठा लिया गया नदी का जलस्तर बढ़ने से सीधा पानी निमोरा मार्ग को तोड़ते हुए आगे निकल गया जो हो सकता है कि रोड को भी क्षतिग्रस्त पानी के बहाव से हो सकता क्योंकि इतना तेज पानी का बहाव रोड छतिग्रस्त तो हो चुकी है , वह भी सकती है जलस्तर कम होने के बाद ही इस बात की पुष्टि हो सकती है रोड की स्थिति क्या है इस संबंध में लगभग 3 माह पहले भी शासन के आला अधिकारियों को ठेकेदार को अवगत कराया था। लेकिन इस पर किसी का ध्यान नहीं गया और आज यह मार्ग खतरे का मार्ग बन गया रास्ता बंद हो गया जबकि यह मार्ग 60 से 70 गांव को जोड़ता है टू व्हीलर से ऑटो रिक्शा से लोग सफर करते हैं मेन रोड के लिए जो छतरपुर दमोह हाईवे चैनपुरा के पास जोड़ता है ठेकेदार अधिकारियों को फोन लगाने पर फोन रिसीव भी नहीं करते इतनी स्वतंत्रता कोई डर नहीं जो होना है होने दो क्या करना हमें ठेका मिल गया हमें नौकरी मिल गई जनता का कुछ भी हो कोई कार्रवाई नहीं होती है मिलजुल कर ऑफिस में बांट लेते हैं अधिकारी हूं छठे केदार जो भी राशि आती है उसका लगभग 40 परसेंट ही लग पाता है बाकी सब भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा जाता है यहां पर भी एक करोड़ 89 लाख की मुंडी वाल बताई जा रही जब इसकी जांच होना चाहिए और नदी का जो रुक दूसरी ओर किया गया है पानी के बहाव ज्यादा हो गया इस पर भी जांच होनी चाहिए ग्राम के लोगों ने यह मांग की है दूसरी बात समय रहते अगर एक्शन नहीं लिया गया तो बची कुची रोड है जो हो सकता वह भी बह जाएगी हिना वाणी से काशीराम ठाकुर मंगल सिंह दामोदर सिंह कांची कुशवाहा नरेंद्र चढ़ार निमोरा ऐसे तमाम के राहगीरों ने बताया कि जब से बूंदी वालों के लिए मैटेरियल निकाला गया तभी से पानी सीधा बह रहा है इससे पहले कभी ऐसा नहीं हुआ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!