राहुल ने माना आभार, कई चुनौतियां है सामने

scn news india
  ब्रेकिंग न्यूज़ -ब्रेकिंग – तामिया के दबंग पत्रकार पर हमला करने का षडयंत्र…पत्रकार नितिन दत्ता ने एसपी मनोज राय को दी जानकारी…असामाजिक तत्वों के खिलाफ आवाज उठाने वाले पत्रकार को दबाने की हो रही है कोशिश…,मामले में पत्रकार संगठनों ने जताया विरोध।   भोपाल  – विधानसभा अध्यक्ष बने एनपी प्रजापति। 
 दिल्ली    लोकसभा में सवर्ण आरक्षण बिल पास    , भोपाल  – भाजपा ने विधानसभा से वाकआउट लिया। 
  राहुल गाँधी ने जीत पर मतदाताओ  का माना आभार    दमोह – केरबना चौकी अंतर्गत एक डंपर वाहन ने केरबना गुगरा मार्ग पर बाइक सवार को टक्कर मार दी जिसमें रूपसींग राजपूत उम्र 50 वर्ष की घटनास्थल पर ही मौत हो गई बताया गया कि बाइक में 2 लोग सवार थे एक अन्य को मामूली चोटें आई हैं।

मनोहर

भोपाल- पांचो राज्यों के नतीजों के कांग्रेस में खासा उत्साह है , वही कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी ने गंभीरता और जिम्मेदारी के साथ जनादेश को स्वीकार कर जीत के लिए धन्यवाद देते हुए प्रेस वार्ता में कहा –

चुनाव के रिजल्ट आए, जनता को, कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को, उन सबको मैं बधाई देना चाहता हूं। जिन राज्यों, तेलंगाना में, मिजोरम में हमारी हार हुई, वहाँ चुनाव जीतने वाले को बधाई देना चाहता हूं। ये जीत कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं की है, किसानों की है, युवाओं की है, छोटे दुकानदारों की है। ये जो आवाज उठी है, अब कांग्रेस पार्टी के ऊपर एक भारी जिम्मेदारी है कि इस आवाज को हम अच्छी तरह सुनें और इन स्टेट्स में जो विजन दिया जाना चाहिए, वो हम दें पाएं। तो इस पर हम सब काम शुरु करेंगे।

मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में बीजेपी को हमने हराया है और जो वहाँ के मुख्यमंत्री हैं, उन्होंने जनता के लिए काम किया। जरुर हमारी लड़ाई उनके साथ विचारधारा की रही – विपक्ष की लड़ाई हुई, हमने उनको हराया, मगर मैं उनको भी कांग्रेस पार्टी की ओर से कहना चाहता हूं कि जो उन्होंने मध्यप्रदेश के लिए, छत्तीसगढ़ के लिए, राजस्थान के लिए काम किया, उसके लिए हम उनका धन्यवाद करते हैं और अब बदलाव का समय है, तो उस काम को अब हम आगे ले जाने की कोशिश करेंगे।

गौरतलब है की भाजपा अध्यक्ष द्वारा राहुल गांधी पर कई तरह के तंज कसे  गए थे लेकिन राहुल गांधी ने भाजपा के कांग्रेस मुक्त भारत के मनसूबे पर पानी फेर दिया , एक पत्रकार ने जब पूछा की इस पर  कहेंगे , तो राहुल ने बड़े ही शालीनता से कहा की उनकी लड़ाई विचार धारा की लड़ाई है , वो किसी को मिटाना नहीं चाहते। लेकिन देखा जाये तो जिन पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए है वहां परिणाम भाजपा मुक्त जरूर हो गया है।

राहुल के नेतृत्व में चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस मजबूत दिखाई दे रही है , लेकिन अब राहुल के सामने वो चुनौतियां है जिन मुद्दों और वादों पर जनता ने कांग्रेस पर भरोसा जताया है। मसलन किसानो की कर्ज माफ़ी 10 दिनों में, दूसरा बिजली के बिल हाफ , युवाओं को रोजगार , किसानों के किये किये अन्य वादे ,महिलाओ के लिए किये वादे ये सभी के साथ प्रदेश के विकास की रुपरेखा जिनपर कांग्रेस को आने वाले 4 माह में सकारात्मक परिणाम देने होंगे , तभी 2019 की राह आसान होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!