किसानों के हंगामे के बाद कल फेल किये उड़द को आज किया पास

छतरपुर से प्रद्युम्न फौजदार की रिपोर्ट
बडामलहरा/किसानों के उड़द की खरीदी में मार्कफेड़ द्वारा की जा रही मनमानी से आक्रोशित किसानों के आगे अंततः मार्कफेड को घुटने टेकने पडे़।पिछले 25 नवम्बर से खरीदे जा रहे उड़द को केवल एक समिति का छोड़कर सभी खरीद केन्द्रों के उड़द को मार्कफेड ने अमानक बता दिया था जिससे बडामलहरा कृषि उपज मंडी में संचालित सभी खरीद केन्द्रों ने खरीद बंद कर दी थी जिसके चलते किसानों ने हंगामा शुरू कर दिया था खबर लगते ही मार्कफेड के मैनेजर आनंद पांडेय बडामलहरा पहुंचे तो आक्रोशित किसानों ने उन्हें घेर लिया था मौके पर पुलिस ने पहुंचकर मोर्चा सम्भालकर स्थिति सामान्य की खरीद केन्द्र संचालकों भी आरोप था कि जब नाफेड द्वारा सर्वेयर बिठाये गये है तो फिर उड़द को अमानक कैसे घोषित किया जा रहा है।

स्थिति का जायजा लेकर बडामलहरा एसडीएम राजीव समाधिया ने जिला कलेक्टर को वास्तविकता से अवगत कराया जिस पर डिप्टी डायरेक्टर एग्रीकल्चर, जिला आपूर्ति अधिकारी स्वाती जैन,मार्कफेड डीएमओ आनंद पांडेय,कोआपरेटिव बैंक महाप्रबंधक श्री मकाश्रे,ने किसानों द्वारा लाये जा रहे उड़द को मानक बताया इसके बाद बडामलहरा एसडीएम राजीव समाधिया, एसडीओपी प्रमोद कुमार सारस्वत के अलावा भारी संख्या में पुलिस बल की मौजूदगी में आज से पुनः उड़द की खरीद शुरू हो सकी।मार्कफेड के खिलाफ किसानों का आरोप तो यह भी था कि एक खरीद केन्द्र के अलावा अन्य खरीद केन्द्रों द्वारा कमीशन नहीं दिया जा रहा था जिसके चलते उक्त केन्द्रों का उड़द अमानक घोषित कर दिया था जबकि अन्य केन्द्र पर उसी वैरायटी के उड़द को मानक बता कर भंडारण किया जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!