किसानों की फसलें उजाड़ रहे आवारा पशुओं के झुंड अल्प वर्षा की मार झेल रहे किसानों की बची खुची फसल भी संकट में

मो आज़ाद 

पन्ना। जिले के अजयगढ़ जनपद अंतर्गत धरमपुर, खोरा, नयागांव, टिकुरहा क्षेत्र के किसान वर्तमान में दोहरी परेशानी से जूझ रहे हैं अल्प वर्षा के कारण पहले ही आधे खेत सूने पड़े हैं, पानी की कमी के कारण बुवाई नहीं हो सकी जिन खेतों में बुवाई हो चुकी है उन्हें आवारा पशुओं के झुंड तहस-नहस करने पर तुले हैं विदित हो कि क्षेत्र में हजारों की संख्या में आवारा पशुओं को उत्तर प्रदेश के लोग पन्ना जिले की सीमा में छोड़ जाते हैं जो दिन भर जंगलों में विचरण करते हैं परंतु रात के अंधेरे में किसानों की फसलों पर हमला कर उन्हें तहस-नहस कर देते हैं ग्राम रमजूपुर निवासी सियाराम लोधी बताते हैं कि रात में खेतों पर धमा चौकड़ी करने वाले पशुओं की संख्या इतनी अधिक होती है कि यह जिस खेत से निकल जाते हैं उस खेत की फसल जमींजोद हो जाती है अगर कहीं यह किसी खेत पर आधा से एक घंटा फसलों को चरने में कामयाब हो पाए तो उस खेत से फसल का
नामोनिशान मिटा देते हैं इसलिए किसानों को रात में जागकर खेतों
की रखवाली करनी पड़ती है वहीं रामनारायण सिंह, मुन्नी सिंह, बुद्धू कोरी, बाबादीन खटिक और भाईलाल अहिरवार ने बताया कि उनकी ज्वार
की खेती पहले ही बड़ी मुश्किल से बच सकी इसके बाद गेहूं और चने की फसल बड़ी मुश्किल से बचा पा रहे हैं रात को जाने कहां से आवारा पशु खेतों में टूट पड़ते हैं। इस बारे में जब सरपंच राजाबाई लोध से बात की गई तो उन्होंने बताया कि क्षेत्र में गौशाला का निर्माण
कराया जा सके तो यहां गायों को संरक्षित कर किसान और गोवंश
दोनों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!