कांग्रेस 114 बीजेपी को 109 – किसकी होगी सरकार -परिणाम की स्थिति

scn news india

मनोहर

भोपाल – 2018 के विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के साथ एक बार फिर जनता ने अपना जनाधार साबित कर दिया है और दोनों ही पार्टियों को आधार में ला कर लटका दिया है फैसला भी ऐसा की मतगणना से पहले की  रात तो क़यामत की थी ही लेकिन परिणाम आने के बाद भी चैन से सो नहीं पाए। अब गणित सरकार बनाने का, प्रदेश में अब जीत हार की स्थिति साफ़ हो गई है , बस इन्तजार है तो सिर्फ औपचारिक घोषणा का , प्रदेश के चुनाव परिणामो को देखे तो कांग्रेस को 114,  भाजपा को -109, बसपा को – 2, सपा को -1 और अन्य निर्दलीय को – 4  सीटे मिली है।  सरकार बनाने बहुमत का आंकड़ा जुटाने दोनों ही दलों को 116  के आंकड़े की आवश्यकता होगी , यानी कांग्रेस को दो एवं भाजपा को सात केंडिडेट का समर्थन चाहिए होगा।

इधर सपा उम्मीदवार ने जीत का परिणाम आते ही कांग्रेस को समर्थन देने की घोषणा कर दी तो वही मायावती भी भाजपा को समर्थन देने से रही , ऐसे में कांग्रेस को बिना मानमनव्वल के बहुमत मिलता दिखाई देता है। क्योकि निर्दलीय तो जिसकी सरकार उसको समर्थन की तर्ज पर चलेंगे।

अब यदि भाजपा की बात करे तो भाजपा के पास बहुमत साबित करने के लिए कुछ ज्यादा नहीं बचा , यदि चारों निर्दलीयों का समर्थन ले भी ले तो कांग्रेस से आगे नहीं निकल सकती अब ऐसे में भाजपा सपा व् बसपा से समर्थन मांगेगी , जो देंगे नहीं । तो विपक्ष में बैठने के सिवाय भाजपा के पास कोई चारा नहीं। अच्छा यही होगा की भाजपा जनमत को स्वीकारें और विपक्ष की भूमिका का दमदारी से निर्वहन करें। और यदि जोड़ तोड़ की राजनीति से भाजपा सरकार बना भी लेती है तो ज्यादा दिन टिकने वाली नहीं होगी।

कमलनाथ ने पहले ही पेश किया दावा 

इस बार भाजपा के सारे पैंतरे कांग्रेस उसी पर आजमा रही है ,पिछले चुनावों से सबक सिख कांग्रेस भाजपा की चाल पर उसे मात देती नजर आ रही है , इधर देर रात तक परिणाम पुरे भी नहीं आ पाए थे की कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्यपाल श्रीमति आनंदी बेन पटेल को पत्र लिख सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया।  कमलनाथ ने कांग्रेस को सबसे बड़ा दल बताते हुए मिलने हेतु समय देने की मांग की है , लेकिन राजभवन से आये बयान के अनुसार अभी कांग्रेस को इन्तजार करना होगा। जब तक चुनाव आयोग की  औपचारिक घोषणा नहीं हो जाती और नियमानुसार देखा जाये तो उचित भी है।

मोदी लहर गायब  

पांचो राज्यों में कांग्रेस मुक्त भारत बनाने वाला नारा इस बार उल्टा पड़ गया और नतीजे सामने है जो भाजपा के लिए चिंतन का विषय जरूर है। लोगों ने इतना काम करने के बाद भी नकार दिया। जबकि मोदी और अमित शाह ने छत्तीसगढ़ में तूफानी सभाएं की लेकिन नतीजा नहीं निकल सका , यदि यही हाल रहा तो 2019 के चुनावो ने भी भाजपा को एन्टीइन्कम्बेंसी का दंश झेलना पड़ सकता है।

मध्य प्रदेश
परिणाम स्थिति

230 निर्वाचन क्षेत्रों में से 230 की ज्ञात स्थिति
दल का नाम विजयी आगे कुल
इंडियन नेशनल कांग्रेस 114 0 114
बहुजन समाज पार्टी 2 0 2
भारतीय जनता पार्टी 109 0 109
समाजवादी पार्टी 1 0 1
निर्दलीय 4 0 4
कुल 230 0 230

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!