एक वर्ष में पचास हजार किलोमीटर की यात्रा कर कल भोपाल पहुंचेंगी दादी जानकी

scn news india

मनोहर

  • एक वर्ष में पचास हजार किलोमीटर की यात्रा कर कल बुधवार 9  जनवरी को  भोपाल पहुंचेंगी दादी जानकी। 
  • दादी को मोस्ट स्टेबल माइंड इन दि वर्ल्ड का सम्मान प्राप्त है।
  • मानव कल्याण के लिए विगत 82 वर्षों का अनवरत सफर है दादी का जीवन।
  • मुख्यमंत्री कमलनाथ 10 जनवरी को मुख्य अतिथि के रूप में होंगे शामिल। 
  • कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा, आईजी,कलेक्टर और पीएस हेल्थ भी होंगे अतिथि। 

भोपाल  – जब ब्यक्ति के मन में किसी कार्य को करनें की दृढ़ इच्छा होती है तो वह व्यक्ति उस कार्य को करनें के लिए हर संभव प्रयास करता है। मानव सेवा के लिए वैसे तो कई मिसालें मिलती हैं लेकिन दादी जानकी जी नें 103 साल की उम्र में सम्पूर्ण विश्व में मानव सेवा की जो मिसाल प्रस्तुत की है उसनें वैज्ञानिकों को भी सोचनें पर मजबूर कर दिया है।


प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की अंतर्राष्ट्रीय मुख्य प्रशासिका दादी जानकी जी योग एवं तपस्या की जीती जागती प्रतिमूर्ति हैं। अपनी योग एवं तपस्या की शक्ति से आपनें लाखों लोंगों का जीवन परिवर्तित किया है। आप 103 वर्ष की उम्र होते हुए भी ब्रह्माकुमारीज की मुख्य प्रशासिका हैं एवं लगभग 150 देशों के अंतर्गत ब्रह्माकुमारीज की लगभग 10000 शाखाओं का कुशल संचालन कर रही हैं।
आप प्रतिदिन 4 बजे सुबह से खुद भगवान का ध्यान करती हैं। एवं साथ ही विश्व शांति के लिए प्रतिदिन सुबह एवं सायं सामूहिक रूप से योग साधना करवाती हैं। आप संस्था के अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय माउंट आबू में समाज के हर वर्ग के लोगों को साल में एक बार विशेष रूप से आमंत्रित करती हैं। एवं उन्हे जिंदगी की भगदौड़, तनाव से मुक्त जिन्दगी के कुछ अमूल्य दिन बितानें का अवसर प्रदान करती हैं। आपके अंदर दया भाव कूट कूटकर समाया हुआ है। किसी भी प्राकृतिक आपदा के समय आप ब्रम्हाकुमारीज की ओर से विशेष मदद के लिए तत्पर रहती हैं। दादी जानकी के बारे में महिमा करना सूरज को दीपक दिखानें के समान है। दादी जानकी के विषय में उक्त जानकारी देते हुए ब्रह्माकुमारीज भोपाल की बी. के. डा. रीना बहन नें दादी जानकी जी के भोपाल आगमन के तारतंम्य में दी।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के नीलबड़ स्थित सुख-शांति भवन में बुधवार से आध्यात्म के महाकुंभ का आगाज होगा। दादी जानकी नवनिर्मित सुख-शांति भवन को समाजसेवा के लिए समर्पित करेंगी। समारोह के दूसरे दिन 10 जनवरी को मुख्यमंत्री कमलनाथ मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे। इसके साथ ही यहां से आध्यात्मिक एवं राजयोग मेडिटेशन का नि:शुल्क प्रशिक्षण शुरू हो जाएगा। समारोह में बड़ी संख्या में प्रदेशभर से नागरिकगण पधारेंगे। इस हेतु  ब्रह्माकुमारीज नीलबड सेवाकेन्द्र प्रभारी नें बताया कि आयोजन के दौरान दादी हजारों लोगों को विशेष योग की अनुभूति कराएंगी। एवं अपने अनमोल वचनों के द्वारा सभी के अंदर विश्व सेवा हेतु तत्पर रहनें की प्रेरणा भी देंगी।

बुधवार को दादीजी फ्लाइट से 10.30 बजे भोपाल पहुंचेंगी। 11 बजे भवन का गृह प्रवेश करेंगीं। वहीं 12 बजे से माउंट आबू से पधारे बालब्रह्मचारी साधकों का सम्मान ब्रह्माकुमारीज के भोपाल जोन की ओर से किया जाएगा। दोपहर 1 बजे दादीजी अपने आशीर्वचन के साथ जीवन में सुख-शांति के सूत्र बताएंगी। इसमें अतिथि के रूप में डीजी मैथिलीशरण गुप्ता, भोपाल जोन की निदेशिका बीके अवधेश दीदी, माउंट आबू से शांतिवन के प्रबंधक बीके भूपाल भाई शामिल होंगे। वहीं शाम के सत्र में मध्यप्रदेश की वरिष्ठ ब्रह्माकुमारी बहनों के सम्मान समारोह में विधायक कृष्णा गौर, होमगार्ड डीजी महान भारत सागर अतिथि के रूप में शामिल होंगे। समारोह में 10 जनवरी गुरुवार को मुख्य अतिथि के रूप में माननीय मुख्यमंत्री भ्राता कमलनाथ शामिल होंगे। समारोह में माउंट आबू से पधारे गायक कलाकारों द्वारा विशेष संगीतमय प्रस्तुति दी जाएगी।
11 जनवरी को दादी अरेरा कालोनी स्थित राजयोग भवन में विशेष कार्यक्रम में भाग लेगी। ब्रम्हाकुमारीज भोपाल जोन की निदेशिका बी.के. अवधेश दीदी नें बताया कि इस हेतु सारी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। दादी जानकी जी के भोपाल आगमन से निश्चित ही भोपाल एवं आसपास के क्षेत्रों में आध्यात्मिकता की लहर दौड़ेगी। उन्होनें समस्त भोपाल वासियों से इन आयोजनों में पहुंचकर दादी जी से वरदानी दृष्टि प्राप्त करनें की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!