अपहृत बच्चा अक्षत मिला सकुशल मंत्री ने परिजनों से वीडियो कॉलिंग पर कराई बात

scn news india

मनोहर

इंदौर – इंदौर से अपहृत अक्षत को पुलिस ने सागर से सकुशल बरामद कर लिया है। जिसके बाद मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निर्देश पर मंत्री श्री जीतू पटवारी अक्षत के घर पहुँचे और वीडियो कॉल से परिजनों की अक्षत से बात कराई।  मोबाईल पर वीडियों कॉलिंग कर जैसे ही लोगों ने अक्षत को को देखा लोगो की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। और अक्षत की मां के आँखों से अपने जिगर के टुकड़े को देख आंसू छलक पड़े। मंत्री जीतू पटवारी ने सागर पुलिस को भी बधाई दी एवं परिजनों को तत्कार अक्षत को ले ने जाने हेतु रवाना किया।

video loading ……..♦

क्या था पूरा मामला 

बच्चों के साथ बगीचे में खेल रहे 6 साल के बच्चे का दिनदहाड़े अपहरण हो गया था। बदमाशों ने 10 मिनट बाद ही बच्चे के पिता को कॉल कर दिया और रिहाई के एवज में 10 लाख की फिरौती मांग ली थी। पुलिस को दो बदमाशों के फुटेज मिले थे। इसके बाद पुलिस मोबाइल नंबर और फुटेज के आधार पर आरोपितों की तलाश कर रही थी।
पुलिस ने कल ही करीब पांच लोगों को हिरासत में लेकर उनसे गहन पूछताछ आरंभ कर दी थी। इसके बाद रात को ही पुलिस के हाथ कुछ सूत्र लगे इसके बाद ही बच्‍चे को बरामद किया गया।

फिरौती के लिए आया था फोन 
घटना हीरानगर थाना क्षेत्र स्थित प्राइम सिटी कॉलोनी में हुई थी। किराना व्यवसायी रोहित जैन का 6 वर्षीय बेटा अक्षत(डूगू) घर के 10 फीट दूरी पर बने बगीचे में खेल रहा था। रोहित की प्राइम पॉइंट के नाम से किराना दुकान है। उन्होंने हाल ही में प्रॉपर्टी खरीदने बेचने का व्यवसाय भी शुरु किया था।
रोहित ने पुलिस को बताया अक्षत रोजना की तरह दोपहर करीब 2 बजे खेलने गया था। करीब 3.10 बजे उनके पास एक बदमाश का कॉल आया। उसने कहा तुम्हारा बच्चा हमारे पास है। 10 लाख रुपए की व्यवस्था कर लेना। मैं शाम को दोबारा कॉल करुंगा। रोहित घबरा गया और तुरंत पत्नी शिल्पा को अक्षत को ढूंढने भेजा। बच्चे के अपहरण की सूचना से कॉलोनी में सनसनी फैल गई थी।आज मंत्री जीतू पटवारी भी बच्‍चे के घर पहुंचे थे।
किराने वाला का बच्चा कौन है, उसको दादी ने बुलाया है।

पूरी तैयारी से आये थे बदमाश 
प्रत्यक्षदर्शी बच्चों ने पुलिस को बताया बाइक पर दो बदमाश आए थे। एक ने चहरे पर मास्क लगा पहन रखा था। उसने कहा किराने वाले का बच्चा कौन है। उसको उसकी दादी ने बुलाया है। बच्चा खेलते हुए बाइक सवारों के पास आ गया और बदमाश उसे उठा कर ले गए।
कुछ देर बाद बदमाशों ने रोहित को फोन लगा दिया। जब रुपयों की मांग की तब अक्षत के रोने की आवाज भी आ रही थी। रोहित ने तत्काल दोस्त भूषण को बुलाया और थाने पहुंच गए। पुलिस ने तत्काल अपहरण का केस दर्ज किया और कंट्रोल रुम से प्रसारण करवा कर पूरे शहर में नाकाबंदी करवा दी गई थी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!